राज्य

लालू, राबड़ी, मीसा और तेजस्वी पर केस दर्ज, 175 करोड़ की संपत्ति कुर्क

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 20, 2017, 6:50 PM IST
लालू, राबड़ी, मीसा और तेजस्वी पर केस दर्ज, 175 करोड़ की संपत्ति कुर्क
फोटो- इंस्टाग्राम
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 20, 2017, 6:50 PM IST
बेनामी संपत्ति मामले में लालू परिवार की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने लालू परिवार पर बड़ी कार्रवाई करते हुए 12 से ज्यादा संपत्ति कुर्क की है. इस संपत्तियों की कुल कीमत करीब 175 करोड़ रुपए है.

बेनामी संपत्ति मामले में लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी (पत्नी), मीसा भारती (बेटी) और तेजस्वी यादव (बेटा) के खिलाफ आयकर विभाग ने केस दर्ज किया है और इन लोगों को नोटिस भी भेजा गया है. आयकर विभाग ने लालू परिवार को समन भेजकर इन संपत्तिओं के बारे में पूरी जानकारी देने को कहा है.

मीसा की चार संपत्तियां अटैच
राबड़ी देवी ने अपनी कई संपत्ति को बतौर गिफ्ट दिखाया था, जिससे कई सवाल खड़े हुए थे. साल 2014 में 30.8 लाख रुपए की संपत्ति को राबड़ी ने लल्लन चौधरी की ओर से मिले बतौर उपहार दिखाया था.

इससे पहले बेनामी संपत्ति मामले में ही आयकर विभाग ने सोमवार को मीसा भारती की मीसा की चार संपत्तियों को अटैच कर दिया था.

इसके तहत अब मीसा भारती इन संपत्तियों को ना बेच सकती हैं और ना ही किराए पर दे सकती हैं. इन संपत्तियों की कुल कीमत करीब 50 करोड़ रुपए है. मीसा भारती अभी राज्यसभा सांसद भी हैं.

पेश होने का कहा गया
सूत्रों के मुताबिक, मीसा भारती को जुलाई के पहले हफ्ते में बेनामी संपत्ति के बारे में अपनी सफाई देने के लिए पेश होने को कहा गया. बेनामी एक्ट के मुताबिक, जिनकी संपत्ति अटैच की जाती है उसे 90 दिनों के भीतर यह साफ करना होता है कि संबंधित रकम का ट्रांजेक्शन उसने कब और कैसे किया.

इससे पहले आयकर विभाग ने मीसा भारती पर 10,000 रुपए का जुर्माना लगाया था. यह जुर्माना कथित बेनामी संपत्ति मामले में आयकर विभाग के समक्ष पेश नहीं होने पर लगाया गया.

मीसा के पति भी निशाने पर
बिहार से राज्यसभा सांसद मीसा को आयकर विभाग ने 24 मई को समन भेजकर छह जून को पेश होने को कहा था. उनके पति शैलेश कुमार को भी बयान देने के लिए बुलाया गया था. लेकिन मीसा ने अपने स्थान पर अपने वकील को भेज दिया था.

आयकर विभाग ने कथित बेनामी संपत्ति सौदों के मामलों में 16 मई को दिल्ली और आसपास के 22 स्थानों पर छापे मारे थे. ये छापे लालू प्रसाद, उनके बेटों तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव के अलावा मीसा भारती से जुड़े मामलों में मारे गए थे.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुशील कुमार मोदी के आरोपों के मद्देनजर राजद प्रमुख के आवास पर छापे मारे गए थे. इसके साथ ही पार्टी सांसद पीसी गुप्ता के आवास पर भी छापे मारे गए और कई कारोबारियों और दिल्ली एवं गुरुग्राम, रेवाड़ी में रियल एस्टेट एजेंटों के ठिकानों पर छापे मारे गए थे.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर