एक लाख का इनामी माओवादी शंभू ने किया सरेंडर

Vinod Kushwaha | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: April 21, 2017, 11:07 PM IST
एक लाख का इनामी माओवादी शंभू ने किया सरेंडर
जगदलपुर - आत्मसर्मपण करने वाला माओवादी शंभू पोयाम उर्फ रमेश पोयाम
Vinod Kushwaha | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: April 21, 2017, 11:07 PM IST
जगदलपुर के सीआरपीएफ की 80 वीं बटालियन में नारायणपुर में रहने वाले नक्सली शंभू ने आत्मसमर्पण कर दिया. आज सीआरपीएफ के 80 वीं बटालियन के आफिस में शंभू ने सीआरपीएफ के कमाडेंट जैनी अनल और जिले के एसपी आरिफ शेख को अपनी बंदूक सौंपकर आत्मसमर्पण किया.

बता दें कि आत्मसर्मपण करने वाला शंभू पोयाम उर्फ रमेश पोयाम नारायणपुर के गुमियापाल के रेंगाबेड़ा का रहने वाला है. वह साल 2010 में नक्सली संगठन में शामिल हुआ था. साल 2014 में उसे नक्सल कमांडर बना दिया गया. शंभू पर अलग अलग थाना क्षेत्रों में आधा दर्जन से भी जयादा मामले दर्ज हैं.

जगदलपुर के सीआरपीएफ 80 वीं बटालियन के कमांडेंट जैनी अनल ने कहा कि आज मेरे बटालियन में एक नक्सल कमांडर ने आत्मसमर्पण कर दिया. उसका नाम शंभू लाल कोयम है.

उसने कहा कि उसके संगठन में बहुत दबाव होता है. संगठन में शामिल लोगों को अपने घर जाने का मौका भी नहीं मिलता है. जंगल में बीमार हो जाने के बाद दवा भी नहीं मिल पाता है.

उन्होंने आगे कहा कि नक्सली शंभू लाल पर एक लाख रुपये का ईनाम था. वह तीन बड़ी नक्सली घटनाओं में शामिल था.

नक्सलियों के लगातार आत्मसमर्पण करने से यह साफ है कि माओवादियों का अपने संगठन से लगातार मोह भंग हो रहा है. बताने की जरूरत नहीं कि पुलिस माओवादियों के खात्मे के लिए लगातार कोशिश कर रही है. पुलिस के प्रयास से ही माओवादी आत्मसमर्पण कर समाज की मुख्य धारा में शामिल होने के लिए प्रेरित हो रहे हैं.
First published: April 21, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर