सरकार की अनदेखी के कारण पानी की एक-एक बूंद को तरस रहे लोग

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 20, 2017, 11:01 AM IST
सरकार की अनदेखी के कारण पानी की एक-एक बूंद को तरस रहे लोग
प्रतिकात्मक तस्वीर
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 20, 2017, 11:01 AM IST
गरियाबंद में पीएचई विभाग की अनदेखी और सरपंच की लापरवाही का खामियाजा झरलाबहाल के ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है. ग्रामीण पानी की एक-एक बूंद के लिए तरस रहे हैं.

एक बाल्टी पानी के लिए महिलाओं को घंटों लाइन लगाना पड़ रहा है, जबकि गांव में 16 हैंडपंप हैं, सौर उर्जा यंत्र स्वीकृत हो चुका है, लेकिन पीएचई विभाग की अनदेखी के कारण 16 में से 14 बोर बंद पड़े हैं. महज 2 बोर के भरोसे ग्रामीण जिंदा हैं.

इन दोनों बोरो से भी कुछ देर पानी निकलने के बाद हवा निकलना शुरू हो जाता है. शौर उर्जा यंत्र का सामान एक साल से पंचायत भवन में पडा है, मगर खेल विभाग ने आज तक उस यंत्र को फिट नहीं किया है. कुछ दिन पहले ग्रामीणों ने एक बोर पर मोटर फिट किया था, दो दिन पहले बिजली विभाग के अधिकारी अवैध कनेक्शन होने की बात कहकर उसे जब्त कर ले गये.

गांव की महिला सरपंच पानी की किल्लत को दूर करने के लिए खुद को बेबस बता रही है, गुस्साए ग्रामीणों ने बीती शाम सरपंच के घर पहुंचकर जमकर हंगामा किया, साथ ही वहां से गुजर रहे तहसीलदार का रास्ता रोककर उसे भी खुब खरीखोटी सुनाई.
First published: March 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर