सीएम मनोहर लाल ने किया साफ, 302 और 307 के केस नहीं होंगे वापस

ETV Haryana/HP

Updated: February 15, 2017, 11:58 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

सूरजकुंड में हुई हरियाणा कैबिनेट की बैठक में जाट आंदोलन को लेकर चर्चा हुई. ढ़ेसी कमेटी की रिपोर्ट पर मंथन के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने साफ कर दिया कि जघन्य अपराध वाले केस किसी भी सूरत में वापस नहीं लिए जाएंगे.

बता दें कि आरक्षण समेत जिन 6 मांगों को लेकर जाट समुदाय के लोग धरने पर बैठे हैं उनमें से एक मांग ये भी है कि सरकार पिछले आंदोलन के दौरान दर्ज किए गए केस वापस ले लेकिन सरकार ने अब साफ कर दिया है कि जघन्य अपराध वाले मामले किसी भी सूरत में वापस नहीं लिये जाएंगे.

सीएम मनोहर लाल ने किया साफ, 302 और 307 के केस नहीं होंगे वापस
सूरजकुंड में हुई हरियाणा कैबिनेट की बैठक में जाट आंदोलन को लेकर चर्चा हुई. ढ़ेसी कमेटी की रिपोर्ट पर मंथन के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने साफ कर दिया कि जघन्य अपराध वाले केस किसी भी सूरत में वापस नहीं लिए जाएंगे.

कैबिनेट में चर्चा के बाद सीएम मनोहर लाल खट्टर ने दो टूक कह दिया कि 302 और 307 के केस सरकार वापस नहीं लेगी. आंदोलनकारियों से बीतचीत के लिए गठित की गई ढेसी कमेटी की रिपोर्ट पर भी कैबिनेट की बैठक में चर्चा हुई.

सीएम ने उम्मीद जताई है कि बातचीत से रास्ता जरूर निकलेगा. पहले दौर की बातचीत में जाट नेता सरकार के समक्ष अपनी सभी मागें रख चुके हैं. दूसरी बैठक की भी सरकार ने तैयारी पूरी कर ली गई.

 

First published: February 15, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp