राज्य

पीडब्ल्यूडी और आईपीएच की लापरवाही से एक परिवार बेघर होने को मजबूर

ETV Haryana/HP
Updated: June 20, 2017, 10:00 AM IST
पीडब्ल्यूडी और आईपीएच की लापरवाही से एक परिवार बेघर होने को मजबूर
पीड़ित परिवार अपने घर का मुआयना करता हुआ
ETV Haryana/HP
Updated: June 20, 2017, 10:00 AM IST
हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला जिले के गढ़सीना मेटी घरोह पंचायत में एक परिवार बेघर होने को मजबूर हो गया है. लोक निर्माण विभाग व आईपीएच विभाग की कार्यप्रणाली के कारण गढ़सीना मेटी घरोह पंचायत के वार्ड नंबर 9 की रहने वाली सुदेश कुमारी बेघर होने को मजबूर है.

सुदेश कुमारी का कहना है कि उनके घर के सामने की बेसमेंट कुहुल के पानी छोड़े जाने के कारण ढह गई है और दरारें  मकान के आसपास तक पहुंच गई हैं.

दरअसल मामला यह है कि धर्मशाला से वाया पठानकोट जाने वाले रास्ते में लोक निर्माण विभाग ने पुली बनाने का काम लगा रखा है. साथ ही विभाग ने कुहुल के पानी को डाइवर्ट कर दिया है और सारा पानी सुदेश के घर से गुजरने वाली कुहुल की नाली में आ गया है और जिसके चलते ओवरफ्लो हो गया.

सुदेश कुमारी ने बताया कि विभाग की इस लापरवाही के चलते मेरे मकान का पक्का डंगा ढह गया है और सोते-जागते यह आशंका बनी रहती है कि मकान कभी भी गिर जाएगा.

सुदेश ने इस बारे में कांगड़ा के उपायुक्त कांगड़ा और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों व आईपीएच के अधिकारियों को भी अपनी समस्या के बारे में लिखित तौर पर बताया था लेकिन किसी ने भी इस समस्या का समाधान नहीं किया. उन्होंने प्रशासन से डंगा दोबारा लगवाने की मांग की है.

लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने यह कह कर पल्ला झाड़ लिया कि यह काम हमारा नहीं है. इस बारे में घरोह पंचायत की प्रधान कांता देवी ने बताया कि उन्होंने खुद जाकर स्थिति का जायजा लिया है और इस बारे में प्रस्ताव भी पारित किया जा चुका है. कांता देवी ने कहा कि सुदेश कुमारी का जो भी नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई जल्द से जल्द पूरी करवा दी जाएगी.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर