राज्य

झारखंड में रिश्वत में पैसे नहीं लड़की मांगने लगे हैं सरकारी बाबू

Shailesh Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 17, 2017, 7:46 AM IST
झारखंड में रिश्वत में पैसे नहीं लड़की मांगने लगे हैं सरकारी बाबू
मामले की शिकायत करने जिला प्रशासन के पास महिला.
Shailesh Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 17, 2017, 7:46 AM IST
राज्य सरकार भ्रष्टाचार रोकने के तमाम प्रयास कर रही है, लेकिन सरकारी अधिकारी और बाबू अपने लिए रास्ता निकाल ही लेते हैं. झारखंड में अब सरकारी बाबू नकद पैसे के बदले लड़की मांगने लगे हैं.

इसका ताजा उदाहरण गढ़वा जिले के खरौंधी प्रखंड कार्यालय में पदस्थापित बड़ाबाबू शुभम का है, जिसने आपदा राहत की राशि मांगने के बदले पीड़िता विधवा महीला से लड़की की मांग कर दी.

गढ़वा जिले के खरौंधी प्रखंड स्थित भारती नगर की विधवा महीला जउतरी कुंवर का घर पिछले साल आई बाढ़ में दह गया था, जिसका आकलन कर अधिकारियों ने मुआवजे की राशि तय की. इसमें से इस विधवा महीला को बीस हजार मिला भी था, लेकिन कार्यालय में पदस्थापित बड़ा बाबू शुभम की नजर इस पैसे पर थी.

उसने विधवा से पांच हजार की मांग की और नहीं तो लड़की भवनाथपुर स्थित डेरा तक पहुंचाने की बात कही. जिस पर महीला ने नकार दिया तो उसे मुआवजा का जो 20 हजार मिला था उसे रिकवरी कराये जाने की धमकी दी गई.

इसके बाद महीला ने सारी कहानी से खरौंधी प्रखंड के बीडीओ को अवगत कराई लेकिन कुछ नहीं होते देख महीला उपायुक्त कार्यालय पहुंचकर आवेदन देकर ईज्जत बचाने की गुहार लगा रही है.

प्रखंड के बड़ा बाबू द्वारा लड़की मांगे जाने का मामला राजनीतिक गलियारों मे तुल पकड़ने लगा है. इस संबंध मे पूछे जाने पर जिले के अधिकारी कतरा रहे हैं लेकिन पीड़ित विधवा जउतरी कुंवर को उपायुक्त द्वारा जांचकराकर कार्रवाई किये जाने का भरोसा दिया गया है.
First published: June 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर