राज्य

विधायक हत्‍याकांड में नीतीश-लालू के करीबी प्रभुनाथ दोषी, 23 मई को सजा

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 18, 2017, 2:04 PM IST
विधायक हत्‍याकांड में नीतीश-लालू के करीबी प्रभुनाथ दोषी, 23 मई को सजा
हजारीबाग कोर्ट
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 18, 2017, 2:04 PM IST
हजारीबाग कोर्ट ने  गुरुवार को  22 वर्ष पुराने हत्या मामले में  प्रभुनाथ सिंह को दोषी करार दिया है.  एमएलए अशोक सिंह हत्या मामले में पूर्व सासंद प्रभुनाथ सिंह गिरफ्तार किए गए.

प्रभुनाथ सिंह के साथ उनके बड़ भाई दीना नाथ सिंह को भी कोर्ट ने दोषी करार दिया है.मामले में कोर्ट 23 मई को सजा सुनाएगा.

दबंग पहचान

प्रभुनाथ सिंह जदयू से महराजगंज के सांसद थे. बाद में आरजेडी में आ गए. प्रभुनाथ सिंह एक जमाने में नीतिश कुमार के बेहद करीबी थे और बाद में लालू प्रसाद यादव के नजदीक आए. दबंग नेता के रूप में उनकी पहचान है. बिहार में सरकार किसी की भी हो, प्रभुनाथ सिंह और उनके करीबी हमेशा यही कहते नजर आते कि सारण के सीएम प्रभुनाथ सिंह हैं.

कौन थे अशोक सिंह

अशोक सिंह मशरक के जनता दल से उस समय विधायक थे. 28 दिसंबर, 1991 को मशरक के जिला परिषद कांप्लेक्स में उन पर गोलियों से ताबड़तोड़ फायरिंग की गयी थी, जिसमें वे तब बिल्डिंग में छिप कर किसी तरह बच गये थे. लेकिन कुछ साल बाद 1995 में पटना स्थित उनके आवास पर उनकी गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. इस मामले प्रभुनाथ सिंह सहित अन्य पर आरोप लगा था.

 
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर