राज्य

एक वायरल मैसेज 9 दिनों में ले चुका है 8 लोगों की जान

News18Hindi
Updated: May 19, 2017, 4:45 PM IST
एक वायरल मैसेज 9 दिनों में ले चुका है 8 लोगों की जान
जमशेदपुर के एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने कहा कि बच्चा चोरी के इस वायरल मैसेज के कारण पिछले नौ दिन में आठ लोगों की जान गई है. बकौल एसएसपी, अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी. वहीं सिटी एसपी प्रशांत आनंद ने भी कहा कि बच्चा चोरी का अफवाह व्हाट्सएप और फेसबुक के जरिए फैल रहा है.
News18Hindi
Updated: May 19, 2017, 4:45 PM IST
जमशेदपुर में बच्‍चा चोरी की अफवाह सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इस पोस्‍ट को देखने के बाद लोगों में इतना गुस्‍सा भड़का कि शक के आधार पर पिछले 9 दिनों में आठ लोगों की पीट-पीटकर हत्‍या की जा चुकी है.


सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा एक मैसेज अब जान पर आफत बन रहा है. हफ्ते भर बाद इस मामले में पुलिस हरकत में आई है. जमशेदपुर के एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने कहा कि बच्चा चोरी के इस वायरल मैसेज के कारण पिछले नौ दिन में आठ लोगों की जान गई है. बकौल एसएसपी, अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी.



जमशेदपुर के सिटी एसपी प्रशांत आनंद ने भी कहा कि  बच्चा चोरी की अफवाह व्हाट्सएप और फेसबुक के जरिए फैल रही है. ऐसे में पुलिस अफवाह फैलाने वालों को चिन्हित कर रही. पहचान के बाद उन पर कार्रवाई होगी.



गुरुवार को सरायकेला में बच्चा चोरी के अफवाह से आक्रोशित ग्रामीण.



 यह है मामला

जानकारी के मुताबिक सोशल मीडिया में वायरल हो रहे एक मैसेज में एक कार्टून में दर्जनों बच्चों के शव को दिखाया गया है. मैसेज के अनुसार इन शवों से शरीर के कई अंग गायब हैं. मैसेज में अभिभावकों को बच्चा चोर से सावधान होने और बच्चा चोर दिखते ही पुलिस काे सूचना देने का संदेश दिया गया है. जमशेदपुर, सरायकेला, जादूगोड़ा और आसपास के कई इलाकों में यह मैसेज वायरल हो गया है.  कई अनजान लोग मैसेज की चपेट में आ रहे हैं.




गुरुवार रात जमशेदपुर में बच्चा चोरी के अफवाह के कारण तीन लोगों की हत्या हो गई, वहीं एक गंभीर रुप से घायल हो गए. टीएमएच हॉस्पिटल पहुंची पुलिस.


जमशेदपुर एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने कहा कि अब तक बच्चा चोरी का एक भी मामला सामने नहीं आया है. यह शरारती तत्वों की करतूत है. लोग अफवाहों पर ध्यान न दें. पुलिस पूरी तरह सजग है.

ये भी पढ़े 

बच्चा चोरी की अफवाह में तीन की पीटकर हत्या, महिला की हालत नाजुक

First published: May 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर