राज्य

अब जल्दी निबटेंगे माननीयों के खिलाफ मामले!

Nirajnayan Choudhary | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: April 20, 2017, 3:54 PM IST
अब जल्दी निबटेंगे माननीयों के खिलाफ मामले!
झारखंड हाईकोर्ट
Nirajnayan Choudhary | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: April 20, 2017, 3:54 PM IST
झारखंड विधानसभा के विधायकों के उपर दर्ज आपराधिक मामले की शीघ्र जांच पूरा करने को लेकर दायर जनहित याचिका पर गुरुवार को हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. कोर्ट ने  मामलें में अद्यतन जांच रिपोर्ट डीजीपी को  कोर्ट में एक मई तक पेश करने का आदेश दिया है.

53 विधायकों के खिलाफ मामले दर्ज

कोर्ट ने पूछा कि कितने मामले दर्ज किए गए हैं. कितने का जांच हुआ. कितनी जांच लंबित है. कितने में चार्जशीट दायर हुआ आदि. जस्टिस डीएन पटेल और जस्टिस रत्नाकर भेंगरा के कोर्ट में सुनवाई हुई. याचिकाकर्ता के अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि विधान सभा के 53 विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं जिनकी जांच में जानबुझ कर देर की जा रही है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का भी हवाला दिया.

इन पर है मामला दर्ज

विधायकों में कई दलों के विधायक  दिनेश उरांव, साधु चरण महातों , अमर बाउरी, नीलकंठ सिंह मुंडा, सत्येन्द्र तिवारी, भानु प्रताप,राम चन्द्र सईस, रामचन्द्र चन्द्रवंशी, ताला मरांडी, अनिल मुर्मू, ढुल्लू महतो, राज सिन्हा,योगेश्वर महतो, राज पलिवार, राज कुमार यादव,सीपी सिंह, प्रकाश पटेल, नारायण दास, सीता सोरेन,  हेमंत सोरेन, निर्भय शाहाबादी, गीता कोड़ा, प्रदीप यादव, नवीन जयसवाल, एनोस एक्का, फुल चन्द्र मंडल, दीपक विरूआ, पैलूस सुरीन, मनीष जयसवाल, चन्द्र प्रकाश चौधरी,इरफान अंसारी एवं अन्य पर मामला दर्ज है. सुप्रीम कोर्ट के केश का हवाला देते हुए, उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि के मामले में डे टू डे ट्राईल करने का प्रावधान है. साथ ही दर्ज आपराधिक मामले की जांच की रिपोर्ट हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को देने का प्रावधान है.
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर