राज्य

योगा गर्ल को इंतजार, कब वादा पूरा करेगी सरकार

Upendra Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 20, 2017, 10:19 AM IST
योगा गर्ल को इंतजार, कब वादा पूरा करेगी सरकार
योगा गर्ल अर्चना
Upendra Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 20, 2017, 10:19 AM IST
झारखंड में योगा गर्ल के नाम से विख्यात और कई राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय योग प्रतियोगिता की विजेता अर्चना को आज भी मुख्यमंत्री रघुवर दास के वादा पूरा होने का इंतजार है. तीन साल बाद भी अर्चना के हाथ खाली हैं.

क्या है मामला

प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को सरकार ने योगा गर्ल को नौकरी के लिए राज्य से बाहर नहीं जाने और झारखंड में ही नौकरी देने का वादा किया था. आज राज्य तीसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की तैयारियों में जुटा है. राजकीय कार्यक्रम को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी चल रही है तो दूसरी ओर मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद उत्तराखंड में योग में असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी छोड़नेवाली झारखंड की योगा गर्ल आज भी नौकरी के लिए दर दर भटक रही है. बकौल अर्चना, इन दो सालों में जिनसे मिलने को कहा गया, सबसे मुलाकात की. पर नतीजा शून्य रहा.

आयुष में नहीं आया सरकार का निर्देश

आश्चर्य इस बात की कि सूबे के मुख्यमंत्री ने तो 2015 में योगा गर्ल अर्चना को नौकरी देने की भले ही घोषणा कर दी हो. पर अब आयुष जिसके अंतर्गत योग भी आता है के निदेशक डॉ अब्दुल नुमान अहमद साफ करते हैं कि न तो सरकार की ओर से अर्चना की नियुक्ति के लिए कोई आदेश आया है और न ही विभाग में योग का कोई पद खाली है .

बहरहाल, मुख्यमंत्री की घोषणा को विश्वास कर झारखंड की बेटी ने उत्तराखंड विश्वविद्यालय में योग के असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी छोड़नेवाली योगा गर्ल को उत्तराखंड सरकार की नौकरी छोड़ने का मलाल तो है पर अभी भी विश्वास है मुख्यमंत्री पहल कर जरुर अपना वादा पूरा करेंगे.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर