राज्य

भाजपा विधायक धुर्वे बिना अनुमति करा रहे थे बोरवेल खनन, मीडिया को देख हटवाई मशीन

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: May 20, 2017, 1:41 PM IST
भाजपा विधायक धुर्वे बिना अनुमति करा रहे थे बोरवेल खनन, मीडिया को देख हटवाई मशीन
मंगलसिंह धुर्वे बीजेपी विधायक, घोड़ाडोंगरी फोटो- ईटीवी
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: May 20, 2017, 1:41 PM IST
मध्य प्रदेश में नेता और जनता के लिए कानून अलग अलग होते हैं , ये बात एक बार फिर बैतूल में साबित हो गई . यहां बीती रात घोड़ाडोंगरी के बीजेपी विधायक मंगल सिंह धुर्वे के बैतूल स्थित निवास पर बिना किसी अनुमति के बोरवेल खनन हो रहा था जबकि पूरे जिले में बोरवेल खनन पर कड़ा प्रतिबंध है.

मौके पर मीडिया को देखकर वहां अफरा- तफरी का माहौल हो गया. आनन- फानन में विधायक ने बोरवेल मशीन हटवा दी. विधायक ने खुद माना कि उन्हें अभी बोरवेल की अनुमति नहीं मिली है.

वहीं चाटुकारिता की हद पार करते हुए पीएचई विभाग के एक इंजीनियर ने विधायक के बचाव में कूद पड़े और यहां तक कह गए कि एफआईआर करवाना हो तो मेरे खिलाफ कराएं, विधायकजी निर्दोष हैं. इंजीनियर को नहीं मालूम था कि शहरी क्षेत्र में बोरवेल खनन की अनुमति पीएचई विभाग नहीं बल्कि नगरपालिका देती है. बोरवेल का काम रात के अंधेरे में विधायक के निवास पर बिना अनुमति के चल रहा था.

मंगलसिंग धुर्वे बीजेपी के वही विधायक हैं जिन्हें साल 2016 में हुए घोड़ाडोंगरी विधानसभा उपचुनाव में जिताने के लिए खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान को 10 दिनों तक एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ा था .अगर यही काम कोई आम आदमी करता तो प्रशासन उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर चुका होता लेकिन यहां तो मामला सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक का था तब काहे का कानून और काहे की एफआईआर.

 

 
First published: May 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर