राज्य

एंटी करप्शन इंटेलिजेंस कमेटी का सदस्य बन करते थे नकली करंसी का इस्तेमाल

News18Hindi
Updated: June 20, 2017, 7:15 AM IST
एंटी करप्शन इंटेलिजेंस कमेटी का सदस्य बन करते थे नकली करंसी का इस्तेमाल
आरोपी से बरामद किया गया नकली आईडी कार्ड
News18Hindi
Updated: June 20, 2017, 7:15 AM IST
बैतूल-नागपुर रोड पर मिलानपुर टोल प्लाजा के कर्मचारियों ने की सूझबूझ से पुलिस ने दो युवकों को 24 हजार 500 रुपयों की नकली करंसी के साथ गिरफ्तार किया है. दोनों आरोपी महाराष्ट्र में वर्धा जिले के निवासी हैं और पकड़े जाने पर खुद को एंटी करप्शन इंटेलिजेंस कमेटी का सदस्य बताकर पुलिस को धमकाने की कोशिश कर रहे थे.

पुलिस को शक है कि दोनो आरोपियों के किसी अंतर्राज्यीय गिरोह से जुड़े होने के पुख्ता सबूत पुलिस को मिले हैं. पुलिस ने बाताया कि 18 जून की रात बैतूल-नागपुर मिलानपुर टोल प्लाजा पर एक टाटा सफारी रुकी . ड्राइविंग सीट पर बैठे राजू भास्कर राव इंगोले ने 75 रुपये टोल टैक्स देने के लिये टोल कर्मी को 2000 रुपये का नोट दिया .

टोल कर्मचारी को नोट नकली होने के शक में उसने पुलिस को सूचित कर दिया. घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को आरोपियों की कार से 24 हजार 500 रुपए की नकली और लगभग 36 हजार रुपए की असली करंसी बरामद हुई. पकड़े जाने पर दोनों आरोपी खुद को एंटी करप्शन इंटेलिजेंस कमेटी का सदस्य बताने लगे. सख्ती से पूछताछ करने पर मालूम हुआ कि इंदौर निवासी किसी पंकज नाम के शख्स से नकली करंसी लेते हैं और पूरे देश में फैलाते हैं
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर