राज्य

पर्यावरण मंत्री अनिल दवे नहीं रहे, राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री ने जताया शोक


Updated: May 18, 2017, 6:49 PM IST
पर्यावरण मंत्री अनिल दवे नहीं रहे, राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री ने जताया शोक
File Photo

Updated: May 18, 2017, 6:49 PM IST
केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल दवे का गुरुवार को निधन हो गया. वह प्रख्यात पर्यावरणविद् थे जिन्होंने नर्मदा नदी संरक्षण सहित कई पर्यावरणीय परियोजनाओं को लेकर काम किया था. राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित अन्य केंद्रीय मंत्रियों व नेताओं ने भी उनके निधन पर शोक जताया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल दवे के निधन पर शोक जताते हुए इसे व्यक्तिगत क्षति बताया. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा भाजपा नेताओं ने अनिल देव के निधन पर शोक जताया.

मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'मेरे दोस्त और बहुत ही सम्मानित सहयोगी पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे जी के अचानक निधन की खबर से सकते में हूं.'

एक अन्य ट्वीट में पीएम ने कहा, 'मैं बुधवार देर शाम तक अनिल माधव दवे जी के साथ था और उनके साथ कई नीतिगत मुद्दों पर चर्चा कर रहा था. उनका निधन व्यक्तिगत क्षति है.'

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि दवे को उनके विनम्र व्यक्तित्व के लिए याद रखा जाएगा. सोनिया ने एक बयान में कहा, 'उनके अचानक निधन से सदमे में हूं.'

सोनिया ने कहा, 'दवे एक मृदुभाषी और विनम्र स्वभाव वाले व्यक्ति थे. उन्हें अपने विनम्र व्यक्तित्व के लिए याद रखा जाएगा.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि हमने मां नर्मदा का सच्चा सपूत खो दिया है. मुख्यमंत्री चौहान ने ट्विटर पर कहा, 'भाई अनिल दवे आरएसएस और भाजपा के सच्चे कार्यकर्ता थे. उन्होंने अजीवन समर्पित भाव से सेवा की.'

एक अन्य ट्वीट में चौहान ने दवे के निधन को निजी क्षति करार देते हुए कहा, 'अनिल दवे के रूप में देश ने एक सच्चा देश भक्त और मां नर्मदा का सपूत खो दिया है. इस क्षति की भरपाई कभी न हो सकेगी.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री विक्रम वर्मा ने गहरा शोक जताते हुए कहा कि अनिल माधव दवे एक अच्छे रणनीतिकार, योजनाकार, विचारक और पार्टी के प्रति समर्पित कार्यकर्ता थे. नर्मदा के प्रदूषण को भी उन्होने दूर करने के लिये कई कार्य किए थे.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा, 'मेरे सहयोगी अनिल माधव दवे जी के अचानक निधन की खबर सुनकर दुखी और सकते में हूं.'

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने ट्वीट कर कहा, 'मेरे सहयोगी अनिल माधव दवे के निधन की खबर सुनकर सकते में हूं. बहुत दुखी हूं.'

गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि दिवंगत नेता सज्जनता की एक उम्दा परिभाषा थे. वह बहुत अच्छे इंसान थे. मैं उनके मुस्कुराते हुए व्यक्तित्व को हमेशा याद रखूंगा. भगवान उनकी आत्मा को शांति दें.

केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा, 'यह अविश्वसनीय है कि हमेशा मुस्कुराने वाले, प्यारे और दिल से युवा साथी अनिल माधव दवे जी अब हमारे बीच नहीं हैं.'
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर