राज्य

शराब की पहचान के लिए आबकारी विभाग ने लगवाए थ्रीडी होलोग्राम

Sushil Koushik | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: June 19, 2017, 4:47 PM IST
शराब की पहचान के लिए आबकारी विभाग ने लगवाए थ्रीडी होलोग्राम
आबकारी विभाग द्वारा जारी किया गया पोस्टर.
Sushil Koushik | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: June 19, 2017, 4:47 PM IST
मध्यप्रदेश में बिकने वाली शराब के असली-नकली होने की पहचान करना जल्द ही बहुत आसान हो जाएगा. मप्र आबकारी विभाग ने अवैध शराब और नकली शराब की बिक्री रोकने के लिए नया हाईटेक फार्मूला ढूंढ़ निकाला है. इससे विभाग को यह पता करने में आसानी होगी कि शराब की बोतल किस ठेके से निकल कर बाजार में आई है और असली है या नकली.

मध्यप्रदेश के सहायक आबकारी आयुक्त अजय शर्मा से प्राप्त जानकारी के अनुसार शराब के अवैध कारोबार और नकली शराब की बिक्री रोकने के लिए आबकारी विभाग अब हाईटेक फार्मूला अपनाने जा रहा है. अब देशी और विदेशी शराब की हर बोतल पर थ्रीडी होलोग्राम लगाया जा रहा है. शर्मा के मुताबिक गोल्डन और सिल्वर रंग के थ्रीडी होलोग्राम के जरिए विभाग ये पता कर सकेगा कि शराब किस ठेके से निकली और बाजार में कहां मौजूद है.

राज्य सरकार ने थ्रीडी होलोग्राम का ठेका नोएडा की यूफ्लेक्स लिमिटेड को सौंपा है. राज्य सरकार हर एक होलोग्राम के लिए कंपनी को 30 पैसे का भुगतान करेगी. इसके साथ ही होलोग्राम में एक कोड होगा जिसे मैसेज करने के बाद एसएमएस अलर्ट की व्यवस्था शुरू भी हो गई है. इससे होलोग्राम पर अंकित नंबर को लोग मैसेज कर शराब के असली और नकली होने की जानकारी ले सकेंगे.
First published: June 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर