सोशल मीडिया की मदद से पुलिस ने किया नोमानिया हत्याकांड का खुलासा

ETV MP/Chhattisgarh

Updated: March 20, 2017, 10:34 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

सीहोर के नोमानिया के जंगल में गला रेत कर फेंकी गई लाश का आखिरकार खुलासा हो गया है. अपनी बहन के साथ मृतक के अवैध संबंधों की वजह से भाई ने एक ड्राइवर दोस्त की मदद से हत्या कर लाश जंगल में फेंक दी.

सोशल मीडिया की मदद से इन दोनों आरोपियों को पकड़ने में आष्टा पुलिस को सफलता मिली है. दरअसल 14 मार्च को आष्टा के सिद्दीकगंज थाने अंतर्गत नोमानिया के जंगल में गला रेत कर फेंकी गई एक लाश के मिलने से सनसनी फैल गया है.

सोशल मीडिया की मदद से पुलिस ने किया नोमानिया हत्याकांड का खुलासा
ETV Image

लाश का फोटो जब पुलिस ने सोशल मीडिया पर जारी किया तो मृतक की जानकारी मिली. पुलिस के इन्वेस्टिगेशन में दोनों आरोपियों का खुलासा हुआ. मृतक लक्ष्मीनारायण चरपे बैतूल के थाना मुलताई के अमरावती घाट का रहने वाला था. वह कुरावर के पीलू खेडी स्थित हिन्द स्पिनिंग फैक्ट्री में काम करता था. वह कुरावर में बस स्टैंड पर एक किराये के मकान में रहता था.

आरोप है कि इस दौरान मृतक का कुरावर की ही रहने वाली एक विवाहिता महिला से अवैध संबंध था. महिला के भाई मनीष चन्द्रवंशी ने अपने ड्राइवर दोस्त अवध नारायण खाती की मदद से मृतक की हत्या को अंजाम दिया. पहले उसे बुलाकर शराब पिलाई बाद में नोमनिया के जंगल में गला रेत कर लाश फेंक दी.

सिद्दीकगंज थाना पुलिस ने दोनों आरोपी के विरुद्ध आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया है. इस मामले में आष्टा के एसडीओपी जीपी अग्रवाल ने मीडिया को जानकारी दी.

First published: March 20, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp