चीन में मकबरे में मिली दुनिया की सबसे पुरानी शराब

वार्ता

Updated: July 7, 2012, 6:38 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

बीजिंग। फ्रांस और दूसरे देशों के वाइन निर्माता जहां सौ डेढ़ सौ वर्ष पुरानी वाइन की बोतलों को नाज से संभाल कर रखते हैं वहीं चीनी पुरातत्वविदों के हाथ एक ऐसा प्राचीन कलश लगा है जिसमें भरे द्रव्य को दुनिया की सबसे पुरानी शराब मानी जा रही है।

चीन की सिन्हुआ संवाद समिति की रिपोर्ट के मुताबिक कांसे से बना यह बर्तन एक कुलीन जन के मकबरे से बरामद हुआ था। बाओजी शहर के शिगूशान पर्वतों में स्थित इस मकबरे को पश्चिमी झाओ राजवंश 1046 से 771 ईसा पूर्व के समय का माना जा रहा है। बाओजी पुरातत्व विश्वविद्यालय के निदेशक लियू जुन के मुताबिक इस कांसे के बर्तन में मौजूद द्रव्य चीन के इतिहास की सबसे पुरानी शराब है।

चीन में मकबरे में मिली दुनिया की सबसे पुरानी शराब
फ्रांस और दूसरे देशों के वाइन निर्माता जहां सौ डेढ़ सौ वर्ष पुरानी वाइन की बोतलों को नाज से संभाल कर रखते हैं वहीं चीनी पुरातत्वविदों के हाथ एक ऐसा प्राचीन कलश लगा है जिसमें भरे द्रव्य को दुनिया की सबसे पुरानी शराब मानी जा रही है।

चीन के पुरातत्ववेत्ताओं का अगर यह दावा सही साबित होता है तो ये शराब करीब तीन हजार वर्ष पुरानी होगी। जर्मनी के पफ्ल्जा म्यूजियम में एक सदी से रखी बोतल में भरी 1650 साल पुरानी शराब को अब तक विश्व की सबसे पुरानी शराब माना जाता रहा था1 शराब की वह बोतल एक रोमन कुलीन के साथ 350 ईसवी में दफनाई गई थी और इसे साल 1867 में खोजा गया था।

यह कांसे का बर्तन इस मकबरे से बरामद किए गए छह बर्तनों में से एक है। हालांकि इस का ढ़क्कन बेहद मजबूती से बंद होने की वजह से खोला नहीं जा सका है जिसकी वजह से इस प्राचीनतम शराब को लेकर अभी तक रहस्य बरकरार है। मालूम हो कि झाओ वंश से पहले के शांग-वंश के दौरान के चीनवासी बेहद पियक्कड़ हुआ करते थे जो अंततः उस साम्राज्य को भ्रष्टाचार और पतन की ओर ले गया था। झाओ काल के खोजकर्ताओं ने लोगों की शराब पीने की आदत पर लगाम लगाने के लिए एक विशेष यंत्र बनाया था जिसको शराब की बोतलों पर लगाये जाने के बाद उससे एक सीमित मात्रा में ही शराब निकल सकती थी

First published: July 7, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp