ड्रेस और स्टेशनरी बेचने वाले स्कूलों को सीबीएसई की सख्त हिदायत

News18Hindi
Updated: April 21, 2017, 8:52 AM IST
ड्रेस और स्टेशनरी बेचने वाले स्कूलों को सीबीएसई की सख्त हिदायत
news18
News18Hindi
Updated: April 21, 2017, 8:52 AM IST
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानि सीबीएसई ने एफिलेटेड स्कूलों को चेतावनी दी है कि वह किताबों, बच्चों की ड्रेस और स्टेशनरी बेचना बंद करें.

बोर्ड ने गुरुवार को जारी एडवाजरी में कहा है कि बोर्ड से जुड़े शिक्षा संस्थान कोई व्यवसायिक प्रतिष्ठान नहीं है. स्कूलों में किताब, यूनिफॉर्म और स्टेशनरी की बिक्री एफिलेशन की शर्तों का खुलेआम उल्लंघन हैं.

मनमानी: 10 गुना महंगी किताबें खरीदने को मजबूर कर रहे स्‍कूल

स्कूलों को भेजे गए पत्र में बोर्ड ने कहा है कि अभिभवाकों की ओर से मिल रही शिकायतों को उसने गंभीरता से लिया है और स्कूलों को यह कड़ा निर्देश है कि वह अभिभवाकों को पुस्तकें, नोटबुक, स्कूल ड्रेस, जूते बस्ते आदि स्कूल परिसर अथवा चुनिंदा विक्रेताओं से खरीदने के लिए बाध्य न करे.

शर्तों के अनुसार स्कूल सामुदायिक सेवा है और यह कारोबार नहीं है. इसलिए किसी भी रूप में स्कूल में व्यवसायिक गतिविधियां नहीं होनी चाहिए. स्कूलों का एकमात्र उद्देशय गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध करना होना चाहिए.

बोर्ड ने स्कूलों को अपने उस निर्देश का भी संज्ञान दिलाया है जिसमें केवल राष्ट्रीय शिक्षा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण की ओर से प्रकाशित पुस्तकों को ही कोर्स में शामिल किया जाएं
First published: April 21, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर