नीतीश बोले - योग सिर्फ दिवस के दिन नहीं बल्कि यह प्रतिदिन करने की चीज है

Agency
Updated: June 20, 2017, 12:52 PM IST
नीतीश बोले - योग सिर्फ दिवस के दिन नहीं बल्कि यह प्रतिदिन करने की चीज है
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ( file pic.)
Agency
Updated: June 20, 2017, 12:52 PM IST
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि योग सिर्फ दिवस के दिन नहीं बल्कि यह प्रतिदिन करने की चीज है और इसे राजनीतिक चर्चा का विषय नहीं बनाया जाना चाहिए क्योंकि ऐसा किए जाने पर यही माना जाएगा कि योग में कोई दिलचस्पी नहीं, योग से भी कुछ वोट का भोग देख रहे हैं.

सोमवार को लोक संवाद के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा, ''योग सिर्फ दिवस के दिन नहीं प्रतिदिन करने की चीज है. मैं प्रतिदिन योग करता हूं. मैं योग के फायदे की भी चर्चा करता हूं परन्तु में प्रचार से दूर रहने वाला हूं.''

उन्होंने कहा, ''लोग योग को व्यक्तिगत रुप से अपनाये. मैं योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा का पक्षधर हूं. बिहार में विपश्यना को बढावा दिया जा रहा है. पटना के बुद्ध स्मृति पार्क में विपश्यना का केन्द्र विकसत किया जा रहा है.''

मुख्यमंत्री ने कहा कि  योग सीखिये और उसे सही रुप से कीजिये. योग सीखने के लिये कहीं बाहर जाने की जरुरत नहीं है, बिहार के मुंगेर में ही योग का सबसे बड़ा केन्द्र है.

नीतीश ने कहा कि प्रचार वाला योग अलग है और वास्तविक योग अलग है. उन्होंने कहा कि हम मुंगेर वाले योग के हिमायती है.

नीतीश ने कहा, 'योग का प्रचार करना बुरी बात नहीं अच्छा है, प्रचार करें. मैं दिखावे के खिलाफ हूं. उन्होंने योग को लेकर भाजपा नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि इन सब चीजों को राजनैतिक चर्चा का मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिये. योग करने वाले लोग सभी समुदाय के हैं एवं विभिन्न देशों में हैं.

नीतीश ने कहा कि योग में विश्वास रखने वाले भिन्न लोग हैं. वे इनकी तरह नहीं है. योग को दुनिया भर में अपनाया जाय इससे अच्छी बात क्या होगी.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर