रुपसपुर, फतुहा, जक्कनपुर और बेउर के बाद अब पाटलिपुत्रा थाना प्रभारी लाइन जाहिर

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 19, 2017, 9:02 AM IST
रुपसपुर, फतुहा, जक्कनपुर और बेउर के बाद अब पाटलिपुत्रा थाना प्रभारी लाइन जाहिर
पटना के एसएसपी मनु महाराज (etv file pic.)
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 19, 2017, 9:02 AM IST
राजधानी पटना के थानेदारों के दिन खराब चल रहे हैं. अभी कुछ दिनों पहले ही फतुहा, जक्कनपुर, रूपसपुर और बेउर के थानेदारों पर गाज गिरी थी. अब गुरुवार को पटना सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार ने पाटलिपुत्रा के थानेदार संजीव शेखर झा को लाइन हाजिर कर दिया गया.

संजीव पर हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी एफआईआर नहीं करने का आरोप था. नेहरूनगर की महिला पहले पति पर बच्चे के अपहरण की शिकायत दर्ज कराने गई थी लेकिन तत्कालीन थाना प्रभारी ने मना कर दिया कि आरोपी जक्कनपुर थाना क्षेत्र का है. कोर्ट ने मामला दर्ज करने का आदेश दिया फिर भी मामला दर्ज नहीं किया गया.

मीडिया ने मामले को सामने लाया तो पाटलिपुत्र थाने ने संख्या शून्य के साथ रिपोर्ट तो लिख ली, लेकिन इसे फिर से जक्कनपुर थाने को रेफर कर दिया. जब पूरे मामले की खबर डीआईजी राजेश कुमार को मिली, तो उन्होंने कड़ा एक्शन लिया.

अभी दो दिन पहले ही इसी थाना क्षेत्र के राजीव नगर मोहल्ले के एक बैंक्वेट हॉल में देर रात को लड़के-लडकियां शराब पार्टी कर रहे थे. आयोजन किसी इवेंट कंपनी की ओर से था. ऐसा आयोजन यहां लगातार होता था, शिकायत पहले से थी. तेज आवाज में म्यूजिक का शोर भी हुआ करता था. कार्रवाई की रात कई पकड़े गए.

बताया जाता है कि एसएसपी मनु महाराज इस बात से खफा थे कि पहले से वहां इस तरीके का आयोजन हुआ करता था, तो थानेदार बेखबर कैसे थे.
First published: May 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर