प्रभुनाथ सिंह को दोषी करार देने पर पीड़ित की मां की छलक उठी आंखें

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 18, 2017, 3:10 PM IST
प्रभुनाथ सिंह को दोषी करार देने पर पीड़ित की मां की छलक उठी आंखें
पीड़ित की मां वसंती देवी (etv pic.)
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 18, 2017, 3:10 PM IST
पूर्व सांसद और राजद नेता प्रभुनाथ सिंह को मशरख के निर्दलीय विधायक अशोक सिंह की हत्या में दोषी करार देने की खबर के बाद पीड़ित की मां बसंती देवी की आंखें एक बार फिर छलक उठी.

उन्होंने कहा कि वो बेटे की याद में पिछले 22 सालों से रो रही हैं. उनका सबसे प्यारा बेटा सांसद प्रभुनाथ सिंह की साजिश का शिकार बन गया लेकिन आज उनके आंसू खुशी के हैं.

वसंती देवी ने कहा कि उनको उम्मीद थी कि न्याय जरूर मिलेगा लेकिन काफी देर हुई. लेकिन दोषी करार देने पर उनको काफी सुकून मिला है.

गौरतलब है कि वर्ष 1995 में अशोक सिंह की बम मारकर पटना में उनके आवास पर हत्या कर दी गई थी. पहले पटना हाइकोर्ट में चला लेकिन ट्रायल प्रभावित होने की बात पर इस मामले को सुप्रीम कोर्ट ट्रांसफर कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इस मामले की सुनवाई हजारीबाग कोर्ट में चल रही थी.

प्रभुनाथ सिंह इलाके में दबंग माने जाते हैं. उनका सामना सीवान के पूर्व दबंग सांसद शहाबुद्दीन से भी कई मौकों पर हुआ. हालांकि दोनों का अपने-अपने संसदीय क्षेत्र में ही वर्चस्व रहा.

प्रभुनाथ सिंह ने पहली बार महाराजगंज संसदीय सीट से साल 2004 में जदयू के टिकट पर जीत हासिल की. हालांकि, 2009 में हुए लोकसभा चुनाव में राजद के प्रत्याशी उमाशंकर सिंह ने प्रभुनाथ को 3,000 वोटों से हरा दिया था. 2012 में वे जदयू से अलग हो गए और राजद के सदस्‍य बन गए.
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर