.....जब रामनाथ कोविंद ने लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप को दोबारा दिलवाई शपथ

News18Hindi
Updated: June 20, 2017, 8:58 AM IST
.....जब रामनाथ कोविंद ने लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप को दोबारा दिलवाई शपथ
तेजप्रताप को शपथ दिलाते रामनाथ कोविंद (file pic.)
News18Hindi
Updated: June 20, 2017, 8:58 AM IST
बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया गया है. कोविंद को उम्मीदवार बनाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजभवन जाकर उन्हें बधाई दी.

सौम्य और सुशील होने के साथ साथ रामनाथ कोविंद कानून के बड़े जानकार हैं. बिहार के राज्यपाल बतौर रामनाथ कोविंद इन 3 फैसले के लिए काफी चर्चित भी हुए.

तेजप्रताप को दोबारा शपथ दिलाई

महागठबंधन की सरकार के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान मंत्री पद की शपथ ले रहे तेज प्रताप यादव को राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने गलत उच्चारण के लिए टोक दिया था. गांधी मैदान के समारोह में राज्यपाल तेज को गोपनीयता की पथ दिलवा रहे थे. तेज प्रताप ने अपेक्षित शब्द का उच्चारण उपेक्षित कर दिया था. तेज प्रताप ने शपथ पत्र पूरा पढ़ लिया तो राज्यपाल ने गलती की ओर ध्यान दिलाया और दोबारा शपथ लेने को कहा.

लौटाया लोकायुक्त संशोधन बिल

राज्यपाल रामनाथ कोविंद उस समय भी चर्चा में आए थे जब उन्होंने बिहार लोकायुक्त संशोधन बिल को विधानमंडल में पुनर्विचार के लिए लौटा दिया था.

राजभवन की ओर से बिहार लोकायुक्त संशोधन बिल 2016 में लोकायुक्त और उसके अन्य सदस्यों के मनोनयन की प्रक्रिया पूरी करने की समय सीमा निर्धारित नहीं किए जाने के कारण लौटा दिया गया था.

कुलपतियों की नियुक्ति

कुलपतियों की नियुक्ति को लेकर भी वो काफी चर्चा में रहे. उन्होंने राज्य के आठ यूनिवर्सिटीज में कुलपतियों की स्थायी नियुक्ति करने का आदेश जारी कर दिया था जिसके बाद काफी हंगामा मचा था. इसके अलावा करप्शन में लिफ्त कई यूनिवर्सीटीज के पदाधिकायों के खिलाफ भी कार्रवाई को लेकर वो चर्चा में रहे हैं.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर