नोटबंदी में मोटा कैश जमा करने वालों को कॉल करेगा IT विभाग

News18Hindi
Updated: July 14, 2017, 7:46 PM IST
नोटबंदी में मोटा कैश जमा करने वालों को कॉल करेगा IT विभाग
News18Hindi
Updated: July 14, 2017, 7:46 PM IST
नोटबंदी के दौरान बड़ी मात्रा में कैश डिपॉजिट करने वाले लगातार सरकार के निशाने पर हैं. इस दौरान 5.5 लाख से अधिक लोगों ने कैश डिपोजिट किया था. इनमें से अधिकांश लोगों को जल्द इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से कॉल आ सकती है.

विभाग की नजर खासकर उन एक लाख लोगों पर है, जिन्‍होंने कैश तो डिपोजिट किया, लेकिन अपने सभी बैंक अकाउंट्स का खुलासा नहीं किया. कर विभाग ऑपरेशन क्लीन मनी  के दूसरे चरण में उन लोगों से उस कैश डिपॉजिट के बारे में जानकारी लेने की कोशिश में है, जो उनकी आमदनी से मेल नहीं खाता.

विभाग को प्राप्‍त हुए हैं नए आंकड़े
सूत्रों द्वारा सीबीडीटी के हवाले से दी गई जानकारियों के अनुसार, टैक्‍स विभाग के पास संदिग्ध ट्रांजैक्शन के नए आंकड़े आए हैं. विभाग ने ऐसे 5.5 लाख से अधिक लोगों को ईमेल और एसएमएस भेजने शुरू कर दिए हैं, जिनका टैक्स प्रोफाइल जमा की गई नकदी से मेल नहीं खाता.

इनकम टैक्‍स विभाग कर रहा है डेटा एनालिसिस
अधिक जोखिम वाले क्लस्टर्स, शेल कंपनियों और बेनामी संपत्तियों की पहचान करने के लिए इनकम टैक्‍स विभाग डेटा एनालिटिक्स कर रहा है. विभाग ने ऐसे एक लाख से अधिक लोगों की पहचान की है, जिन्होंने ऑपरेशन क्लीन मनी के पहले चरण में अपने सभी बैंक एकाउंट्स का खुलासा नहीं किया था.

पहले चरण में की थी 17.92 लोगों की पहचान
इनकम टैक्‍स विभाग ने इस ऑपरेशन के पहले चरण में 17.92 लाख लोगों की पहचान की थी. इनमें 9.72 लाख ने अपने जवाब ऑनलाइन दिए थे. इनके बारे में विभाग की वेबसाइट पर जानकारी है.

निशाने पर हैं दो लाख से अधिक कैश डिपॉजिट करने वाले
नोटबंदी के दौरान दो लाख रुपये से अधिक कैश डिपॉजिट करने वालों को घेरने की लगातार कोशिश जारी है. उन्‍हें इस साल इनकम टैक्स रिटर्न में इसकी जानकारी देनी होगी. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इस जानकारी को डिटेल्स के साथ मिलाकर देखेगा.

इन्‍हें भी पढ़ें- 

11 महीने के निचले स्‍तर पर थोक महंगाई दर, खाद्य उत्पाद सस्‍ते होने का असर

फॉर्ब्स टॉप-10 लिस्ट में चीन की 4 कंपनियां, 100 में भी शामिल नहीं है भारत

 

 

 

 
First published: July 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर