'अपने घर का सपना' होगा पूरा, पीएफ के नियमों में हो रहा है ये बड़ा बदलाव

News18Hindi

Updated: March 15, 2017, 11:00 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

केंद्र सरकार जल्द ही एंप्लॉयीज प्रविडेंट फंड मेंबर्स (ईपीएफओ) के नियमों में बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है. इस बदलाव के बाद आप घर खरीदने के लिए पीएफ अकाउंट में मौजूद 90 प्रतिशत तक रकम इस्तेमाल कर सकेंगे. इससे लोगों को घर खरीदने के दौरान डाउन पेमेंट करने में काफी मदद मिल जाया करेगी.

क्या बदल जाएगा

'अपने घर का सपना' होगा पूरा, पीएफ के नियमों में हो रहा है ये बड़ा बदलाव
Image Source : PTI

केंद्र सरकार ने बुधवार को संसद में बताया है कि ईपीएफओ से पैसा निकालने के नियमों में बदलाव किया जा रहा है. नियम बदलने के बाद लोग घर खरीदने के लिए 90 प्रतिशत तक रकम निकाल सकेंगे. इसके आलावा पीएफ अकाउंट के जरिए मेंबर ईएमआई भी चुका सकेंगे. हालांकि इसके लिए कम से कम 10 पीएफ मेंबर्स को मिलकर एक को-ऑपरेटिव सोसाइटी का गठन करना होगा. इसके बाद ही वे लोग पीएफ अकाउंट से रकम निकाल सकेंगे.

क्या कहा सरकार ने

केंद्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने संसद को बताया कि सरकार एंप्लॉयीज प्रविडेंट फंड स्कीम, 1952 में संशोधन कर रही है. इस बदलाव के बाद 10 या उससे ज्यादा पीएफ के मेंबर्स मिलाकर को-ऑपरेटिव सोसाइटी और हाउसिंग सोसाइटी का गठन कर अपने अकाउंट से घर खरीदने के लिए 90 प्रतिशत तक रकम निकाल सकेंगे. ये रकम न सिर्फ माकन खरीदने बल्कि माकन बनवाने के लिए भी निकली जा सकती है.

'लोगों के घर के सपने के लिए सरकार गंभीर'

दत्तात्रेय ने कुछ दिन पहले ही इस बदलाव का ज़िक्र करते हुए कहा था कि ऐसा करना इसलिए ज़रूरी है जिससे लोगों के अपने घर का सपना पूरा हो सके. उन्होंने कहा था कि ज्यादातर कर्मचारी अपना पूरा जीवन किराए के मकानों में काटने के लिए मजबूर हैं इसलिए सरकार लोगों को घर खरीदने में मदद करना चाहती है. बता दें कि फिलहाल ईपीएफओ के दायरे में आने वाले सभी कर्मचारियों को अपने मूल वेतन का 12 फीसदी भविष्य निधि में देना होता है. इसमें मूल वेतन के अलावा महंगाई भत्ता शामिल होता है.

(एजेंसी इनपुट भी)

First published: March 15, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp