NRI के विदेशी खातों पर हैं अब I-T डिपार्टमेंट की नजर, ITR में जानकारी देना हुआ अनिवार्य

News18Hindi
Updated: July 15, 2017, 11:42 AM IST
NRI के विदेशी खातों पर हैं अब I-T डिपार्टमेंट की नजर,  ITR में जानकारी देना हुआ अनिवार्य
NRI के विदेशी खातों पर हैं अब I-T डिपार्टमेंट की नजर, ITR में जानकारी देना अनिवार्य
News18Hindi
Updated: July 15, 2017, 11:42 AM IST
एनआरआई के लिए अब विदेशी बैंकों में पैसा जमा करना आसान नहीं होगा, क्योंकि हाल मेें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने टैक्स रिटर्न फॉर्म में नया नियम जोड़ दिया है जिसके बाद एनआरआई को विदेशी बैंक अकाउंट्स की भी जानकारी देना अनिवार्य हो गया है. आपको बता दें कि 182 दिन देश से बाहर रहने वाला कोई भी भारतीय एनआरआई स्टेटस पा सकता हैं. एनआरआई स्टेटस की वजह से विदेशी बैंकों में जमा उनके पैसे को भी कानूनी मान्यता आसानी से मिल जाती है.एनआरआई को भी भारत में शेयर, प्रॉपर्टीज, बैंक डिपॉजिट और बॉन्ड्स से होने वाली आय पर रिटर्न फाइल करना होता है.

एनआरआई के जरुरी हुए ये काम
एनआरआई को टैक्स विभाग के साथ भारत के बाहर सभी बैंक अकाउंट्स की जानकारी, बैंकों का नाम, बैंक किस देश में हैं, स्व्फिट कोड और इंटरनैशनल बैंक अकाउंट नंबर (IBAN) की जानकारी देनी होगी. स्व्फिट कोड के जरिए एक देश से दूसरे देश के बैंक में फंड के ट्रांसफर की जानकारी मिल पाएगी वहीं, IBAN से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किए गए लेन-देन की जानकारी टैक्स विभाग को मिलेगी.

एनआरआई ने स्विट्जरलैंड से पैसा किया ट्रांसफर!

पिछले कई साल से देश के बाहर रह रहे विदेशी बैंकों में जमा ब्लैक मनी पर सरकार की सख्त नीतियों के बाद कई एनआरआई ने दुबई, सिंगापुर और हॉन्ग कॉन्ग जैसे देशों में बैंक अकाउंट खोल पैसा स्विट्जरलैंड से ट्रांसफर करना शुरू कर दिया है.

 

यह भी पढ़े: निवेशकों ने म्यूचुअल फंड्स से 2 महीने में निकाले 57 हजार करोड़ रुपए, अब क्या करें नए इन्वेस्टर्स

यह भी पढ़े: ये है मोटी कमाई का सबसे आसान फंडा, ऐसे कमा सकते हैं लाखों
First published: July 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर