एलआईसी होगी डिजिटल, लाखों एजेंटों को मिलेगी पीओएस मशीन

पीटीआई

Updated: February 28, 2017, 10:13 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

पब्लिक सेक्टर की बड़ी लाइफ इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देगी. कंपनी प्रीमियम कलेक्शन के लिए अपने लाखों एजेंटों को ‘प्वाइंट ऑफ सेल’ मशीन देने जा रही है. वर्ल्ड की बड़ी इंश्योरेंस कंपनियों में से एक भारतीय जीवन बीमा निगम के लाखों एजेंट सालाना 1.5 लाख करोड़ रुपए का प्रीमियम कलेक्शन करते हैं.

आधार से लिंक होने की प्लानिंग

एलआईसी होगी डिजिटल, लाखों एजेंटों को मिलेगी पीओएस मशीन
पब्लिक सेक्टर की बड़ी लाइफ इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देगी. कंपनी प्रीमियम कलेक्शन के लिए अपने लाखों एजेंटों को ‘प्वाइंट ऑफ सेल’ मशीन देने जा रही है.

एलआईसी के एक सीनियर ऑफिसर ने कहा, ‘‘लैसकेश इकॉनॉमी की पॉलिसी के तहत, एलआईसी शुरूआत में कुछ लाख एक्टिव एजेंटों को पीओएस मशीनें देने जा रही हैं, ताकि प्रीमियम कलेक्शन डिजिटल हो सके. ’’ ऑफिसर ने कहा कि एलआईसी की आधार कार्ड से जुड़ा डिजिटल ट्रांजेक्शन शुरू करने पर भी प्लानिंग कर रही है. कंपनी के मुताबिक एलआईसी की फिलहाल करीब 1.5 लाख एजेंटों को पीओएस मशीनें उपलब्ध कराने की योजना है. भविष्य में इसे बढ़ाया जाएगा.

किसे होगा फायदा?

एलआईसी के डिजिटल होने का बड़ा फायदा देश के ग्रामीण और शहरी इलाकों में होगा. पीओएस मशीन में कार्ड स्वाइप करने से पालिसी होल्डर को प्रीमियम का कैश पेमेंट करने की जरूरत नहीं होगी. बता दें कि इंश्योरेंस सेक्टर में आज भी एलआईसी एक बड़ी कंपनी है, और सरकारी कंपनी होने के चलते करोड़ों पॉलिसी होल्डर्स का इस पर ज्यादा भरोसा है.

First published: February 28, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp