जल्‍द लें होम लोन सब्सिडी का लाभ, एक दिसंबर को खत्‍म होगी स्‍कीम

News18Hindi
Updated: July 14, 2017, 4:50 PM IST
जल्‍द लें होम लोन सब्सिडी का लाभ, एक दिसंबर को खत्‍म होगी स्‍कीम
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) का लाभ एक जनवरी से अब तक केवल 250 लाभार्थियों ने उठाया है.
News18Hindi
Updated: July 14, 2017, 4:50 PM IST
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मध्यम वर्ग के लिए आवास योजना पर क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) का लाभ एक जनवरी से अब तक केवल 250 लाभार्थियों ने उठाया है. यह योजना इस साल एक जनवरी से मध्यम आय वर्ग (एमआईजी) के लिए लागू की गई थी. जबकि निम्‍न आय वर्ग के 43,166 लोगों ने इस स्‍कीम का लाभ लिया है. आवास और शहरी मामलों के सचिव दुर्गा शंकर मिश्र की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में यह खुलासा हुआ.

21 लाख सस्ते मकान को मंजूरी
बैठक में मौजूद शहरी विकास मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सीएलएसएस के तहत केवल 250 लाभार्थियों को पांच करोड़ रुपये से अधिक की ब्याज सब्सिडी दी गई है. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कुल 21 लाख सस्ते मकान को मंजूरी दी गई.

43,166 लोगों को 824 करोड़ रुपये की दी गई सब्सिडी

अब तक आर्थिक रूप से कमजोर (ईडब्ल्यूएस) तथा निम्न आय वर्ग के अंतर्गत आने वाले 43,166 लाभार्थियों को 824 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी गई.

12 लाख सालाना आय वालों को कर्ज पर चार फीसदी सब्सिडी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले वर्ष 31 दिसंबर को मध्यम आय वर्ग के लिए क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना की घोषणा की थी. इसके तहत 12 लाख रुपये सालाना आय वाले लोगों को नौ लाख रुपये तक के कर्ज पर चार प्रतिशत तथा 18 लाख रुपये तक की सालाना आय वालों को 12 लाख रुपये तक के कर्ज पर तीन फीसदी ब्‍याज सब्सिडी दी जाती है.

एक दिसंबर को समाप्‍त हो जाएगी यह योजना
मध्यम आय वर्ग के लिये ऋण सब्सिडी योजना इस साल दिसंबर में समाप्त होगी. सीएलएसएस के तहत कुल लाभार्थियों में 75 प्रतिशत आवास वित्त कंपनियों से कर्ज लेने वाले हैं. वहीं सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की पहुंच केवल 12 प्रतिशत तक रही है.

ये खबरें भी पढ़ें- 

बाबा रामदेव की पतंजलि देश की सबसे विश्वसनीय ब्रैंड, ये है टॉप लिस्ट

पेटीएम मॉल करेगी 5000 नियुक्तियां, कारोबार विस्‍तार की है महत्‍वाकांक्षी योजना

 

 
First published: July 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर