Exclusive : पेट्रोल पंप पर कार्ड से पेमेंट करने पर वसूला जा रहा है ज्यादा पैसा

News18Hindi

Updated: February 28, 2017, 12:52 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

पेट्रोल पंप डेबिड कार्ड से पेमेंट करने वाले ग्राहकों से ज्‍यादा पैसा वसूल रहे हैं. एक्‍स्‍ट्रा पैसा सर्विस चार्ज के रूप में लिया जा रहा है. नये सरकारी आदेश के मुताबिक डेबिट-क्रेडिट कार्ड से पेमेंट पर सर्विस चार्ज ग्राहकों से नहीं वसूला जा सकता, बल्‍कि इसका भुगतान मर्चेंट को ही करना होगा. नोटबंदी के बाद सरकार ने डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए इस आदेश को जारी किया था, और ग्राहकों एमडीआर चार्जेस में छूट दी थी.

Exclusive : पेट्रोल पंप पर कार्ड से पेमेंट करने पर वसूला जा रहा है ज्यादा पैसा
पेट्रोल पंप डेबिड कार्ड से पेमेंट करने वाले ग्राहकों से ज्‍यादा पैसा वसूल रहे हैं. एक्‍स्‍ट्रा पैसा सर्विस चार्ज के रूप में लिया जा रहा है. नये सरकार आदेश के मुताबिक डेबिट-क्रेडिट कार्ड से पेमेंट पर सर्विस चार्ज ग्राहकों से नहीं वसूला जा सकता..!

ऑर्डर की उड़ी धज्‍जियां

सहयोगी चैनल सीएनबीसी आवाज को मिली एक्‍सक्‍लूसिव जानकारी के मुताबिक कुछ पेट्रोल पेंप, मर्चेंट से वूसला जाने वाला चार्ज, सीधा ग्राहकों से वसूल रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर बैंक 1 फीसदी एक्स्ट्रा चार्ज वसूल रहे हैं. इस तरह सरकार के सर्विस चार्ज वसूल नहीं किए जाने के सरकारी ऑर्डर की खुलेआम धज्‍जियां उड़ रही हैं.

फरवरी में हुई थी बैठक, आया था आदेश

दरअसल, फरवरी के दूसरे हफ्ते में इस मुद्दे पर अहम बैठक हुई थी, और पेट्रोल पंप पर कार्ड पेमेंट पर 1 फीसदी एक्स्ट्रा चार्ज पर सहमति बनी थी.  ये बैठक पेट्रोलियम मंत्रालय के संबंधित पक्षों की हुई थी.  सूत्रों का ये भी कहना है कि डेबिट कार्ड से पेमेंट करने पर कई बैंक एमडीआर चार्ज भी वसूल रहे हैं. पेट्रोलियम मिनिस्‍ट्री में इस मुद्दे पर कई शिकायतें आई हैं. हालांकि पेट्रोल पंपों की एक्सट्रा चार्ज वसूलने की अपनी दलीले हैं. पेट्रोल पंप मालिकों के मुताबिक पेट्रोल-डीजल बेचने में मार्जिन कम होता है, ऐसे में पेट्रोल पंप धारक फ्यूल सरचार्ज का बोझ नहीं उठा सकते हैं.

सरकार ने दी थी छूट

सरकार ने डिजिटल इंडिया मुहिम और कैशलेस ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए पेट्रोल पंप पर कार्ड पेमेंट करने पर 0.75 फीसदी की छूट का का आदेश दिया था. सरकारी ऑर्डर के मुताबिक ट्रांजैक्शन चार्ज का बोझ कस्‍टमर पर नहीं दिया जाएगा और सरचार्ज का भार केवल पेट्रोल पंप नहीं, बल्कि तेल कंपनियां भी उठाएंगी. इधर, आरबीआई ने भी चार्ज ग्राहकों से वसूलने पर रोक लगाई है. सरकार का कहना था कि आरबीआई बैंक ट्रांजैक्शन चार्ज मर्चेंट्स से वसूलें.

इतनी दी है छूट

सरकार ने ट्रांजैक्शन चार्ज को लेकर कुछ नियम बनाएं हैं, जिनके तहत 1000 रुपए तक के ट्रांजैक्शन पर 0.25%, 2000 तक के ट्रांजैक्शन पर 0.50फीसदी तक की छूट दी गई है. हालांकि 2000 से ऊपर पर नियम साफ नहीं किए गए हैं. जाहिर है अगर आप पेट्रोल पंप पर डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पेमेंट कर रहे हैं, तो नफा-नुकसान का हिसाब जरूर लगा लें, क्‍योंकि कई बैंकों ने फिर से एक्स्ट्रा चार्ज वसूलना शुरू कर दिया है.

(hindi.moneycontrol.com से साभार)

First published: February 28, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp