घर खरीदना है तो जल्दी करें, बढ़ सकते हैं प्रॉपर्टी के दाम!

hindi.moneycontrol.com
Updated: April 10, 2017, 12:00 AM IST
घर खरीदना है तो जल्दी करें, बढ़ सकते हैं प्रॉपर्टी के दाम!
सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना से इंडस्ट्री और मार्केट के लोगों को बड़ी उम्मीद है. सीएनबीसी-आवाज के साथ खास बातचीत में एचडीएफसी की एमडी रेणु सूद कर्नाड ने कहा कि...
hindi.moneycontrol.com
Updated: April 10, 2017, 12:00 AM IST
सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना से इंडस्ट्री और प्रॉपर्टी मार्किट को काफी उम्मीदें हैं. सीएनबीसी-आवाज के साथ खास बातचीत में एचडीएफसी की एमडी रेणु सूद कर्नाड ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से हाउसिंग में डिमांड बढ़ेगी और छोटे और मझोले घरों की मांग में इजाफा होगा.

एचडीएफसी को अभी आरबीआई से रेट कट की उम्मीदें नहीं हैं. रेणु सूद कर्नाड ने आगे कहा कि जब भी रेट कट करने की गुंजाइश होगी तो ग्राहकों को इसका फायदा जरूर मिलेगा. रिएलिटी सेक्टर पर नोटबंदी का असर खत्म हो गया है. आने वाले दिनों में प्रॉपर्टी के दाम बढ़ सकते हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना से डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ेगी जिससे रिएलिटी सेक्टर के साथ-साथ और भी कई इंडस्ट्री को फायदा होगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना पिछले 40 सालों की सबसे बेहतरीन योजना है.

खुशखबरी! दिल्ली में घर का सपना होगा पूरा, डीडीए देगी 12000 फ्लैट्स का तोहफा

रेणु सूद कर्नाड का कहना है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवंटित राशि कम है, अच्छा रिस्पॉन्स मिलने पर सरकार राशि बढ़ा सकती है. इस योजना से आगे सीमेंट, स्टील के अलावा कई सेक्टर को फायदा हो सकता है. रिएलिटी सेक्टर में प्राइस करेक्शन कब? इस सवाल का जवाब देते हुए रेणु सूद कर्नाड ने कहा कि मिडिल क्लास कैटेगरी में प्राइस करेक्शन नहीं होगा क्योंकि इस सेगमेंट में डिमांड काफी ज्यादा है. घरों की कीमतें गिरने की बजाय बढ़ेंगी.

नोटबंदी का कितना असर? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि इंतजार कर रहे लोगों ने घर खरीदना शुरू कर दिया है. नोटबंदी का असर खत्म हो गया है. फिलहाल डिमांड पूरी तरह नहीं बढ़ी है. जून तक सेक्टर पर नोटबंदी का असर पूरी तरह खत्म हो जाएगा. रिएलिटी सेक्टर का आउटलुक पर बात करते हुए रेणु सूद कर्नाड ने कहा कि रेरा, जीएसटी से इंडस्ट्री पर थोड़ी देर ही असर पड़ेगा. घरों की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ रही है. अगले 5-10 साल घरों की डिमांड बढ़ती रहेगी.
First published: April 9, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर