मुल्क में कितने माल्या, कब लौटेंगे बैंकों के 56 हजार करोड़?

News18Hindi
Updated: April 21, 2017, 10:03 AM IST
मुल्क में कितने माल्या, कब लौटेंगे बैंकों के 56 हजार करोड़?
Image Source: PTI File Photo
News18Hindi
Updated: April 21, 2017, 10:03 AM IST
देश छोड़कर विदेश भागे मशहूर उद्योगपति और किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय माल्या अक्सर मीडिया की सुर्खियों में रहते हैं. संसद से लेकर सड़क तक उनके 9000 करोड़ के कर्ज और गिरफ्तारी को लेकर चर्चाएं रहती हैं.

देशभर में विजय माल्या अकेले ऐसे कर्जदार नहीं हैं, जो बैंक से उधार लेकर वापस नहीं लौटा रहे हैं बल्कि ऐसे बकाएदारों की संख्या हजारों में है. जानिए ऐसे और माल्याओं के बारे में, जो देश के प्रमुख बैंकों से पैसा उधार लेकर नहीं लौटा रहे हैं.

5275 बकाएदार हैं मुल्क में
क्रेडिट इंफोर्मेशन ब्यूरो के मुताबिक देश में बैंकों से कर्ज लेकर ना लौटाने वाले उद्योगपतियाेें की कुल तादाद 5275 है. इन कर्जदारों पर बैंका का कुल 56,521 करोड़ का उधार है.

क्रेडिट इंफोर्मेशन ब्यूरो एक ऐसी कंपनी है, जो सभी बैंकों ने मिलकर बनाई है. इस कंपनी का काम कर्जदारों की जानकारी को जमा करना है.

Defaulter List

9 साल में 13 गुना बढ़ा कर्ज
साल 2002 में बकाएदारों पर कुल कर्ज महज 6,291 करोड़ था. जो आगामी 13 सालों में बढ़कर 56, 521 करोड़ रुपए हो गया.

सभी राज्यों की बात करें तो महाराष्ट्र में बकाएदारों की संख्या सबसे ज्यादा है. महाराष्ट्र में कुल 1138 कर्जदार हैं, जिन पर 21,647 करोड़ बकाया है. इसके बाद बंगाल में 710 और आंध्र प्रदेश में 567 बकाएदारों की सूची है. वहीं राजधानी दिल्ली में 7,299 करोड़ कर्ज बकाया है.

कर्ज देकर फंसे 19 राष्ट्रीयकृत बैंक
देश में कुल मौजूद 19 राष्ट्रीयकृत बैंक ऐसे हैं, जिनका बकाएदारों पर कुल 26,600 करोड़ रुपए फंसा हुआ है.

राष्ट्रीयकृत बैंकों की तरफ से केस लड़ने वाले सनत दत्ता के मुताबिक बैंकों पर राजनेताओं की तरफ से कॉरपोरेट कंपनियों को लोन देने का भारी दवाब होता है. सनत के मुताबिक राजनेता, ब्यूरोक्रेट्स और कॉरपोरेट के गठजोड़ के चलते बैंकों का भारी पैसा डूब रहा है.
First published: April 21, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर