जियो ने इसलिए वापस लिया समर सरप्राइज आॅफर...

News18Hindi
Updated: April 8, 2017, 10:38 AM IST
जियो ने इसलिए वापस लिया समर सरप्राइज आॅफर...
रिलायंस जियो ने अचानक समर सरप्राइज आॅफर क्यों खत्म कर दिया. ये सवाल जियो के तमाम उपभोक्ताओं के दिमाग में उठ रहा है.
News18Hindi
Updated: April 8, 2017, 10:38 AM IST
रिलायंस जियो ने अचानक समर सरप्राइज आॅफर क्यों खत्म कर दिया. ये सवाल जियो के तमाम उपभोक्ताओं के दिमाग में उठ रहा है. बताया गया कि जियो ने ये कदम ट्राई के अनुरोध पर उठाया है. आइए जानते हैं ट्राई के सचिव सुधीर गुप्ता से कि आखिर जियो ने ये आॅफर क्यों वापस ले लिया. उन्होंने सीएनबीसी—टीवी18 से खास बातचीत की.

सुधीर गुप्ता ने कहा कि ऐसे सभी जियो उपभोक्ता, जिन्होंने 303 रुपये या उससे अधिक का रिचार्ज करा लिया है, उन्हें 1 जुलाई तक इस समर सरप्राइज आॅफर का लाभ मिलता रहेगा. जियो द्वारा इस आॅफर को वापस लेने के एक दिन बाद ट्राई की ओर से पहली बार इसकी वजह को बताया गया.

ट्राई के सचिव ने बताया कि जियो का ये आॅफर ट्राई के नियामों के अनुरूप नहीं था. जियो ने समर सरप्राइज आॅफर की घोषणा 31 मार्च को की थी. इसके तहत कंपनी ने ऐसे उपभोक्ताओं को तीन महीने का अतिरिक्त फ्री डेटा और कॉलिंग की सुविधा देने की घोषणा की थी, जिन्होंने 303 रुपये या उससे अधिक रिचार्ज कराया हो.

सुधीर गुप्ता के अनुसार, ट्राई ने इस घोषणा के ठीक अगले ही दिन इस पूरे प्लान के बारे में जानकारी मांगी थी, इसके बाद 5 अप्रैल को जियो के अधिकारियों के साथ बैठक बुलाई गई. उन्होंने बताया कि ट्राई की ओर से जियो अधिकारियों से पूछा गया कि क्या समर सरप्राइज आॅफर भी एक प्रमोशनल आॅफर है जैसा कि हैप्पी न्यू आॅफर था. जियो के अधिकारियों ने बताया, ये एक विशेष सुविधा थी न कि प्रमोशनल आॅफर. ट्राई के अधिकारी इस तर्क से सहमत नहीं हुए. इसके बाद ही उनसे ये आॅफर वापस लेने को कहा गया और उन्होंने ये आॅफर वापस ले लिया.

हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि ऐसे सभी जियो उपभोक्ता, जिन्होंने पहले ही 303 रुपये या उससे अधिक का रिचार्ज करवा लिया है, उन्हें ये सुविधा 1 जुलाई तक मिलती रहेगी.

(डिस्क्लेमरः न्यूज 18 हिंदी नेटवर्क 18 समूह का हिस्सा है. न्यूज 18 हिंदी और अन्य डिजिटल, प्रिंट और टीवी चैनल नेटवर्क 18 के अंतर्गत आते हैं. नेटवर्क 18 का स्वामित्व और प्रबंधन रिलायंस इंडस्ट्रीज के हाथ में है.)
First published: April 8, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर