विश्व बैंक को भरोसा, GST बढ़ाएगा भारत की आर्थिक ताकत

भाषा
Updated: April 17, 2017, 11:49 PM IST
विश्व बैंक को भरोसा, GST बढ़ाएगा भारत की आर्थिक ताकत
Photo - PTI
भाषा
Updated: April 17, 2017, 11:49 PM IST
नोटबंदी के बाद आर्थिक कमजोरी झेल रहे कई भारतीय क्षेत्रों के लिए वर्ल्ड बैंक खुशखबरी लाया है. विश्व बैंक की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि वित्त वर्ष 2017-18 में भारत की जीडीपी 7.2 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी. साथ ही इस रिपोर्ट के हवाले से पता चला है कि वस्तु और सेवा कर यानि जीएसटी लागू होने से भारतीय अर्थव्यवस्था रफ्तार पकड़ेगी.

सोमवार को जारी हुई विश्व बैंक की दक्षिण एशियाई अर्थव्यवस्था की रिपोर्ट में ये अनुमान लगाए गए हैं. विश्व बैंक का कहना है कि 2018-19 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर और बढ़कर 7.5 फीसदी पर पहुंच जाएगी.

आने वाली हैं ढेर सारी नौकरियां, जीएसटी खोलेगा जॉब के दरवाजे

रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी से छोटी और अनौपचारिक अर्थव्यवस्था पर असर पड़ सकता है, वित्तीय क्षेत्र पर दबाव पड़ सकता है और साथ ही वैश्विक वातावरण में अनिश्चितता से आर्थिक वृद्धि को ‘उल्लेखनीय जोखिम’ का सामना करना पड़ सकता है. इसमें कहा गया है कि कच्चे तेल और अन्य की कीमतों में तेज वृद्धि का भी अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.

GST: 'वन नेशन वन टैक्‍स' से जानिए क्‍या महंगा होगा और क्‍या सस्‍ता...

विश्व बैंक ने कहा कि निवेश कम रहने और नोटबंदी के प्रभाव की वजह से 2016-17 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 6.8 प्रतिशत रहेगी. लेकिन 2017-18 में ये बढ़कर 7.2 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी.

...जब पीएम मोदी को मिला पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का साथ

इसमें कहा गया है कि समय पर और सही तरीके से जीएसटी के क्रियान्वयन से 2017-18 में आर्थिक गतिविधियों को उल्लेखनीय लाभ मिल सकता है. रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि 2019-20 में आर्थिक वृद्धि दर मामूली और बढ़कर 7.7 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी.
First published: April 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर