सक्सेस स्टोरीः स्टार्टअप कंपनी से एक साल में कमा लिए 20 करोड़!

ओम प्रकाश | News18India.com
Updated: October 9, 2016, 12:26 PM IST
सक्सेस स्टोरीः स्टार्टअप कंपनी से एक साल में कमा लिए 20 करोड़!
फोटोः IBNKhabar
ओम प्रकाश | News18India.com
Updated: October 9, 2016, 12:26 PM IST
नई दिल्‍ली। इलेक्ट्रोनिक गैजेट या और कोई कीमती आइटम खरीदते समय आम भारतीय हमेशा दुविधा में रहता है। अगर वो दुकान से खरीदे तो सामान महंगा मिलता है और अगर ऑनलाइन खरीदे तो हमेशा ये अंदेशा रहता है कि पता नहीं जो सामान खरीद रहे हैं वो वैसा ही होगा या नहीं, जैसा दिखाया जा रहा है। एक आम भारतीय की इसी दुविधा में संभवी सिन्हा को बिजनेस का मौका नजर आया। फिर क्या था, अस्तित्व में आई एक करोड़ की लागत वाली एक कंपनी जो महज एक साल में आज 20 करोड़ की हो गई है।

महज 24 साल की संभवी सिन्हा को पहली नजर में देखकर कोई भी कॉलेज स्टूडेंट समझने की गलती कर बैठेगा। लेकिन नोएडा की रहने वाली ये बिजनेसवुमन आज स्‍टॉर्टअप की दुनिया की कामयाब खिलाड़ी है। संभवी ने यूनिवर्सिटी ऑफ वर्जीनिया से मैथमेटिक्‍स और कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया है। 2013 में पढ़ाई पूरी करके जब वे भारत लौटीं तो उन्‍होंने देखा कि ऑनलाइन के इस दौर में भी पारंपरिक दुकानें खूब चल रही हैं। यहीं से उनके दिमाग में आइडिया आया कि क्‍यों न एक ऐसा ऑनलाइन प्‍लेटफार्म बनाया जाए जिस पर सामान की बुकिंग तो ऑनलाइन हो लेकिन उसकी खरीद उपभोक्‍ता अपनी नजदीकी दुकान से करे। यानी ऑनलाइन शॉपिंग की दुनिया में भी उन्‍होंने अलग तरह से काम करने का रास्ता चुना।

इसके लिए संभवी ने बड़ा रिस्‍क लेते हुए गुड़गांव में शॉपमेट नाम से एक कंपनी खोली। जिसके ऑनलाइन प्‍लेटफार्म पर सामान की बुकिंग होती है और उपभोक्‍ता उसे ऑफलाइन खरीदता है। उपभोक्‍ता को ऑनलाइन ही मोलभाव करने का मौका मिलता है, जिससे उसे बेस्‍ट प्राइस मिलता है।

कामयाबी की राह में ये थी बड़ी चुनौती

इस काम में सबसे बड़ी चुनौती दुकानदारों को जोड़ने की थी। उन्‍हें समझाना कठिन था कि उन्‍हें कैसे फायदा होगा। संभवी सिन्‍हा के मुताबिक उनकी टीम ने समझाया कि ऑनलाइन के दौर में आपकी दुकान पर लोगों का आना कम हुआ है। ऐसे में कंपनी ऑनलाइन ऑर्डर लेकर आपके पास ग्राहक भेजेगी। इस काम के लिए कंपनी दुकानदार से कमीशन लेगी। कुछ लोगों को यह बात समझ में आ गई। थोड़े समय में ही उनके साथ दिल्‍ली-एनसीआर के 700 दुकानदार जुड़ गए। इस मॉडल में उपभोक्‍ताओं के लिए बड़ा फायदा ये है कि ठगी की आशंका नहीं होती। संभवी की कंपनी इस समय इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स आइटम, बाइक, स्‍कूटर, मोबाइल, टैबलेट, लैपटॉप और डेस्कटॉप कंप्यूटर में डीलिंग करती है।

start-up-girla

टू टियर सिटी में जाने का है प्‍लान 

मेट्रो सिटी के मुकाबले इस काम में टू टियर सिटी ज्‍यादा अच्‍छी हैं। क्‍योंकि इन शहरों में अब भी ज्‍यादातर लोग दुकान पर जाकर सामान लेना पसंद करते हैं इसलिए संभवी मेरठ, इंदौर, कानपुर, इलाहाबाद और भोपाल जैसे शहरों में अपनी कंपनी के विस्‍तार की योजना बना रही हैं।

स्टार्टअप में करियर बनाने वाले युवाओं के लिए ये है संभवी का संदेश 

आज के दौर में तरक्‍की के लिए अच्‍छा आइडिया जरूरी है। आइडिया ऐसा हो जो लोगों की जिंदगी आसान करे। उनकी दिक्‍कतों को कम करे। आइडिया को सैंपल के तौर पर टेस्‍ट करिए। छोटे से क्षेत्र में काम करके उसकी सफलता देखिए। यदि आपके दिमाग में कोई नया बिजनेस मॉडल है तो उसे इंप्‍लीमेंट करने में हिचकिचाना नहीं चाहिए। सक्‍सेस के लिए रिस्‍क लेना बहुत जरूरी है, साथ ही मेहनत और लीडरशिप जरूरी है।
First published: October 9, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर