...तो ये कारण है सुपेबेड़ा में फैली किडनी की बीमारी का !

Krishna Kumar Saini | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: July 18, 2017, 10:19 AM IST
...तो ये कारण है सुपेबेड़ा में फैली किडनी की बीमारी का !
सुपेबेड़ा गांव में फैली किडनी की बीमारी के कारणों का खुलासा
Krishna Kumar Saini | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: July 18, 2017, 10:19 AM IST
छत्तीसगढ़ में गरियाबंद जिले के सुपेबेड़ा गांव में फैली किडनी की बीमारी के कारणों का खुलासा हो गया है.

पानी और मिट्टी में है हैवी मेटल

दरअसल, जिले के सुपेबेड़ा गांव में पानी और मिट्टी में हैवी मेटल होने के कारण लोग किडनी की बीमारी के शिकार हो रहे हैं.

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों ने अपनी रिपोर्ट में इसकी पुष्टि की है. बता दें कि प्रदेश सरकार द्वारा हस्तक्षेप करने के दो महीने बाद इस बीमारी के कारणों का खुलासा हो पाया है.

वहीं ग्रामीण इस पूरे मामले में जिला प्रशासन और खास तौर पर पीएचई (लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी) विभाग की बड़ी लापरवाही मान रहे हैं. ग्रामीणों का आरोप है कि पीएचई विभाग पानी की सही जांच पड़ताल किए बिना ही शुरू से पानी में कोई कमी नहीं होने का दावा करता आया है.

ग्रामीणों के मुताबिक अगर पीएचई विभाग ने पहले ही पानी और मिट्टी की जांच पड़ताल सही ढंग से कराई होती, तो आज उन्हें इतनी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता. इतना ही नहीं आज इस किडनी की बीमारी से हो रही मौत का आंकड़ा भी इतना नहीं बढ़ता.

सुपेबेड़ा गांव के ग्रामीणों का कहना है कि गांव में किडनी की बीमारी से जुझ रहे लोगों की लिस्ट भी इतनी लंबी नहीं होती. ऐसे में ग्रामीण अब गांव के विस्थापन और पीड़ितों की सही इलाज की मांग कर रहे हैं.
First published: July 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर