केंद्र सरकार की बड़ी कार्रवाई, आईपीएस राजकुमार देवांगन को नहीं मिलेगी पेंशन और अन्य सुविधाएं

Julfikar Ali | ETV MP/Chhattisgarh

First published: January 12, 2017, 9:04 PM IST | Updated: January 12, 2017, 9:04 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp
केंद्र सरकार की बड़ी कार्रवाई, आईपीएस राजकुमार देवांगन को नहीं मिलेगी पेंशन और अन्य सुविधाएं
भारत सरकार ने छत्तीसगढ़ कैडर के आईपीएस राजकुमार देवांगन को परमानेंट रिटायरमेंट दे दिया है. राजकुमार को अब पेंशन और सरकारी सुविधाओं की कोई पात्रता नहीं रहेगी. दागी आईपीएस के खिलाफ देश की यह सबसे बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है.

भारत सरकार ने छत्तीसगढ़ कैडर के आईपीएस राजकुमार देवांगन को परमानेंट रिटायरमेंट दे दिया है. राजकुमार को अब पेंशन और सरकारी सुविधाओं की कोई पात्रता नहीं रहेगी.

दागी आईपीएस के खिलाफ देश की यह सबसे बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है. राजकुमार 92 बैच के आईपीएस हैं, उनके बैच के पवनदेव और अरुणदेव गौतम हाल ही में प्रमोट होकर एडीजी बने हैं.

राजकुमार के खिलाफ डीजी जेल गिरधारी नायक जांजगीर डकैतीकांड की विभागीय जांच कर रहे थे. राजकुमार जब जांजगीर में एसपी थे तब बाराद्वार में लाखों रुपयों की डकैती हुई थी.

स्कूल के शिक्षकों के वेतन लेकर जा रहे हेडमास्टर से कुछ लोगों ने पैसे लूट लिए थे. इस मामले में बाराद्वार के थानेदार नरेंद्र शर्मा बाद में पकड़ गया था. उसके घर से डकैती के रुपए बरामद हुए थे. उस डकैती में एसपी की सलिप्तता सामने आई थी.

थानेदार ने भी एसपी का नाम लिया था, उसमें राजकुमार सस्पेंड हुए थे. पिछले दस साल से उनकी विभागीय जांच चल रही थी. इस मामले में सीएम डॉ रमन सिंह ने कहा कि ये काम राज्य सरकार का नहीं है. आईपीएस की नियुक्ति दिल्ली से होती है और उन पर कार्रवाई भी दिल्ली से होती है. यह एक अच्छा संदेश है.

facebook Twitter google skype whatsapp