भोपाल@4 जुलाई: MPTC के 194 स्टाफ को नौकरी वापस

Updated: July 4, 2012, 1:36 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

एमपीटीसी के 194 कर्मचारियों को वापस मिलेगी नौकरी

भोपाल। सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश सरकार को झटका देते हुए अनिवार्य सेवानिवृत्ति योजना (सीआरएस) के तहत हटाए गए राज्य परिवहन निगम के 194 कर्मचारियों को चार सप्ताह के भीतर नौकरी पर वापस लेने का आज आदेश दिया। गौरतलब है कि राज्य सरकार ने परिवहन निगम के 194 कर्मचारियों को सीआरएस के तहत बाहर का रास्ता दिखा दिया था, जिसे मध्य प्रदेश परिवहन कर्मचारी महासंघ ने उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी।

भोपाल@4 जुलाई: MPTC के 194 स्टाफ को नौकरी वापस
बुधवार, 4 जुलाई 2012 को भोपाल की ये खबरें रही सुर्खियां।

राह में मॉनसून, जल्द पहुंचेगा भोपाल

भोपाल। राजधानी समेत राज्य के अन्य हिस्सों में हुई बारिश से मॉनसून के पूरी तरह सक्रिय होने की फिर आस बंधने लगी है। राज्य के पूर्वी हिस्से मतलब जबलपुर तक पहुंच चुके मॉनसून के ठिठक जाने के कारण अधिकांश हिस्सों को गर्मी और उमस से जूझना पड़ रहा था, मगर मानसून अब होशंगाबाद, सागर व रीवा की ओर बढ़ गया है। बीते तीन दिनों में राजधानी भोपाल में शाम के समय रुक-रुककर तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। मौसम में आए बदलाव के चलते राजधानी का अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

पहली 'मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन यात्रा' जाएगी रामेश्वरम

भोपाल। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना की तैयारियां शुरू हो गई है। पहली यात्रा अगस्त में रामेश्वरम की होगी। यह निर्णय मंगलवार को धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा की अध्यक्षता में हुई राज्यस्तरीय प्रबंध समिति की बैठक में लिया गया। शर्मा ने बताया कि इस यात्रा के लिए पंजीयन 20 जुलाई तक किया जाएगा। योजना में शामिल अन्य तीर्थ स्थानों के लिए पंजीयन 20 जुलाई के बाद भी जारी रहेगा।

स्कूली बच्चों के लिए 8 से 14 जुलाई तक तैराकी प्रतियोगिता

भोपाल। प्रदेश के सभी संभागीय मुख्यालय पर आगामी आठ से 14 जुलाई तक स्कूली बच्चों की तैराकी प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। स्कूल शिक्षा विभाग के सभी संयुक्त संचालकों को स्पर्धा 14 वर्ष से कम और 19 वर्ष से कम दो आयु समूह में करवाने के निर्देश दिए गए हैं। बालक और बालिका वर्ग के 100 से अधिक विजेताओं को अंडमान-निकोबार जाने का अवसर मिलेगा। बच्चे बलिदानी सावरकर द्वारा समुद्र में लगाई गई अमर छलांग स्थल के अलावा सेलुलर जेल का भी भ्रमण करेंगे।

विद्यार्थी कल्याण योजना से 5754 विद्यार्थी हुए लाभांवित

भोपाल। मध्यप्रदेश में अनुसूचित जाति कल्याण विभाग द्वारा संचालित विद्यार्थी कल्याण योजना का फायदा पिछले वर्ष 5754 विद्यार्थियों को दिलाया गया है। इस योजना में आकस्मिक विपत्ति आने पर अधिकतम 25 हजार रुपये की सहायता प्रभावित छात्र को उपलब्ध करवाने का प्रावधान है। पिछले वर्ष इस योजना के लिए विभाग द्वारा 50 लाख रुपये का प्रावधान किया गया था। योजना में अनुसूचित जाति वर्ग के छात्र को गंभीर बीमारी होने एवं परिवार में आकस्मिक विपत्ति आने पर सहायता उपलब्ध करवाई जाती है।

First published: July 4, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp