पढ़ें: कांडा ने अनुराधा के पैर पकड़ कर मांगी थी माफी!

News18India

Updated: August 7, 2012, 5:07 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल गोयल कांडा भले ही लाख कहें कि वो गीतिका के या उसके परिवार के करीब नहीं थे लेकिन गीतिका के घरवालों की ओर से जारी तमाम तस्वीरें कुछ दूसरी ही कहानी बयान कर रही हैं। ये तस्वीरें कहीं न कहीं पूर्व एयरहोस्टेस गीतिका के आखिरी शब्दों पर मोहर लगाती दिख रही हैं। जाहिर है कल पुलिस की पूछताछ में कांडा को इन तमाम तस्वीरों पर भी अपनी सफाई देनी पड़ेगी।

गोपाल कांडा के मुताबिक, ‘मेरा उनसे पारिवारिक रिश्ता था। मैं उनके परिवार के बेहद नजदीक था। पिछले दो महीने से मैने गीतिका को कोई कॉल नहीं की।’ आखिर ये कैसे नजदीकी रिश्ते थे कि गीतिका ने अपनी खुदकुशी के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया।

पढ़ें: कांडा ने अनुराधा के पैर पकड़ कर मांगी थी माफी!
हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल गोयल कांडा भले ही लाख कहें कि वो गीतिका के या उसके परिवार के करीब नहीं थे लेकिन गीतिका के घरवालों की ओर से जारी तमाम तस्वीरें कुछ दूसरी ही कहानी बयान कर रही हैं।

गीतिका के परिवार और गोपाल कांडा का परिवार एक साथ मुंबई घूमने गया था। शिरडी भी गया था। एक तस्वीर में गोपाल कांडा की पत्नी गीतिका के मां बाप के साथ नजर आ रही है। तो दूसरी तस्वीर में गोपाल कांडा गीतिका के परिवार का एक हिस्सा नजर आ रहे हैं। एक और तस्वीर हैं जिसमें गोपाल कांडा की बेटी गीतिका के साथ उसकी दोस्त जैसी नजर आ रही है।

गोपाल कांडा की मानें तो गीतिका एक होनहार कर्मचारी थी। इसलिए वो उसे बार बार कंपनी में रखना चाहता थे। गोपाल कांडा के ही मुताबिक वो चाहते थे कि गीतिका उनकी कंपनी में ही काम करे। लेकिन गीतिका के ही परिवार की माने तो पूर्व मंत्री गोपाल कांडा की नीयत में खोट था। गीतिका के परिवार के मुताबिक कांडा की गलत हरकतों से तंग आकर ही कांडा की कंपनी एडीएलआर छोड़कर गीतिका अमीरात एयलाइंस में नौकरी करने दुबई चली गई।

परिवार के मुताबिक गोपाल कांडा ने अमीरात एयरलाइंस और दुबई पुलिस को गुड़गांव के थानाध्यक्ष के नाम से फर्जी ईमल भेज कर गीतिका के बारे में झूठी शिकायत की थी। शिकायत में आरोप लगाया गया था कि गीतिका पर काफी कर्ज है। इसके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज है। साथ ही उसका चरित्र भी ठीक नहीं है।

गीतिका के भाई के मुताबिक गुड़गांव एसएचओ के लैटर पैड पर कांडा ने मेल किया था। परिवार के मुताबिक जब इस बारे में गीतिका की मां अनुराधा शर्मा ने गोपाल कांडा से पूछताछ की तो उसने, उनके अशोक विहार के घर पर पैर पकड़ कर माफी मांगी थी। माफी मांगते हुए कांडा ने कहा था कि अब ऐसी गलती दोबारा नहीं होगी। गीतिका के परिवार के मुताबिक कांडा की इस हरकत की वजह से उसे दुबई से लौटना पड़ा। इसके बाद कांडा ने अपनी गलती मानते हुए गीतिका को 13 जनवरी 2011 को अपनी कंपनी में साठ हजार रुपए प्रतिमाह पर डायरेक्टर जैसे ऊंचा पद दे दिया।

गीतिका की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट अगले एक हफ्ते में आने की संभावना है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले की जांच के लिए बकायदा एक विशेष टीम का भी गठन कर दिया है। इस बीच बीजेपी और हरियाणा जनहित कांग्रेस इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग कर रही हैं। तमाम राजनीति और पुलिस जांच के बीच ये सवाल उठ रहे हैं कि क्या गीतिका की खुदकुशी के पीछे का राज खुल पाएगा।

First published: August 7, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp