फेसबुक पर ऐलान किया और खुद को गोली से उड़ा लिया

News18India
Updated: August 11, 2012, 5:19 PM IST
फेसबुक पर ऐलान किया और खुद को गोली से उड़ा लिया
अपनी मौत से 36 घंटे पहले उसने अपने फेसबुक अकाउंट पर कोडवर्ड में खुदकुशी के संकेत दे दिया था जिसे उसके दोस्त समझ नहीं सके। उसने अपने फेसबुक पर लिखा, बस सिर्फ 36 घंटे और!
News18India
Updated: August 11, 2012, 5:19 PM IST
आगरा। आगरा में 24 साल के एक युवक ने कनपटी पर गोली मारकर खुदकुशी कर ली। घरवालों के मुताबिक वो लड़का एक लड़की से मोहब्बत करता था लेकिन बाद में दोनों अलग हो गए और उस लड़की की शादी कहीं और तय कर दी गई। लड़का इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर सका और उसने अपनी जान दे दी। लेकिन अपनी मौत से 36 घंटे पहले उसने अपने फेसबुक अकाउंट पर कोडवर्ड में खुदकुशी के संकेत दे दिया था जिसे उसके दोस्त समझ नहीं सके। उसने अपने फेसबुक पर लिखा, बस सिर्फ 36 घंटे और!

24 साल का भरत लच्छवानी उर्फ बंटी का सूरत में जूतों का शोरूम है। शुक्रवार की सुबह करीब 11 बजे वो सूरत से आगरा अपने घर पहुंचा लेकिन वो घर के अंदर नहीं गया और कॉलोनी के गेट के बाहर सीढ़ियों पर बैठ गया। जब घरवालों को पता चला कि वो सीढ़ियों पर बैठा है और घर नहीं आ रहा है तो घरवाले उसके पास गए। उसे घर चलने के लिए कहा लेकिन घरवालों को देखते ही भरत ने अपनी कनपटी पर पिस्तौल लगा ली। उसने घरवालों को धमकी दी कि अगर उसके साथ जबरदस्ती की तो वो खुद को गोली मार लेगा। भरत के पिता और कॉलोनी वालों ने उसे बहुत समझाया लेकिन वो नहीं माना। उसने पिस्तौल की ट्रिगर पर हाथ रख लिया और गोली मारने की धमकी देकर उसने लोगों को कदम पीछे हटाने को मजबूर कर दिया। लोगों ने पुलिस बुलाने का फैसला किया लेकिन इससे पहले कि पुलिस आती, भरत ने कनपटी पर गोली मारकर खुदकुशी कर ली।

परिवार के मुताबिक भरत ने दो दिन पहले ही फेसबुक पर खुदकुशी की ओर इशारा कर दिया था। उसने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा था 36 hours to go यानि 36 घंटे और बाकी हैं। पिता ने सूरत फोन किया तो पता चला कि भरत वहां से आगरा के लिए निकल चुका है। घरवाले पूरी रात उससे संपर्क करने की कोशिश करते रहे, लेकिन बात नहीं हो सकी। और सुबह जब भरत आगरा पहुंचा तो उसने फेसबुक पर लिखे अपनी मौत के अल्टीमेटम को हकीकत में तब्दील कर दिया।

घरवालों के मुताबिक भरत एक लड़की से मोहब्बत करता था। लड़की ने एयर होस्टेस बनने के बाद दो साल पहले भरत से अपने संबंध खत्म कर लिए थे। उसकी शादी कहीं और तय होने के बाद से भरत परेशान रहने लगा था। ऐसे में घरवालों ने उसे सूरत अपने मामा के पास भेज दिया था। करीब दो साल से वो मामा के साथ मिलकर जूतों का शोरूम चला रहा था। घरवालों के मुताबिक तीन महीने पहले उसने प्रेमिका के होने वाले ससुराल में जाकर हंगामा भी किया था। पुलिस भी इस आत्महत्या के पीछे प्रेम संबंधों का ही मामला मान रही है।

परिवारवालों के मुताबिक प्रेम में नाकाम होने के बाद भरत डिप्रेशन में चला गया था। घरवाले उसे मनोचिकित्सक के पास ले जाना चाहते थे। आगरा आने पर उसे मनोचिकित्सक से दिखाने की तैयारी थी। जरूरत पड़ने पर वह उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराने की तैयारी भी कर चुके थे। लेकिन ये सब हो पाता उससे पहले ही भरत ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

First published: August 11, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर