चेयरमैन के घर गई बिजली तो खतरे में पड़ी जेई की नौकरी

News18India

Updated: August 16, 2012, 10:28 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

लखनऊ।उत्तर प्रदेश में जनता बिजली कटौती से बेहाल है। सरकार लोगों को बिजली नहीं दे पा रही है। तमाम इलाकों में जहां 14-14 घंटे तक की बिजली की कटौती हो रही है। वहीं पावर कॉरपोरेशन के चेयरमैन के घर महज सात मिनट तक बिजली चले जाने पर पूरे बिजली महकमे पर मानों आफत आ गई। सात मिनट तक बिजली जाने का खामियाजा भुगतने के लिए अब इलाके के जेई राममूर्ति वर्मा को चुना गया है और वर्मा पर निलंबन की तलवार लटक रही है। जेई वर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है।

मालूम हो कि रविवार की सुबह पॉवर कारपोरेशन के चेयरमैन अनिल कुमार गुप्ता लखनऊ के गोमतीनगर इलाके में रहते हैं। सुबह 8.58 मिनट पर अचानक उनके घर समेत पूरे इलाके की बिजली गुल हो गयी। लिहाजा आनन फानन में सात मिनट के भीतर ही बिजली बहाल कर दी गई। अब राममूर्ति वर्मा को इस सात मिनट की कटौती के लिए जिम्मेदार मानते हुए हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करके उनसे पूछा गया है कि उन्हें क्यूं ना सस्पेंड कर दिया जाए।

चेयरमैन के घर गई बिजली तो खतरे में पड़ी जेई की नौकरी
उत्तर प्रदेश में जनता बिजली कटौती से बेहाल है। सरकार लोगों को बिजली नहीं दे पा रही है। तमाम इलाकों में जहां 14-14 घंटे तक की बिजली की कटौती हो रही है।

राममूर्ती का कहना है कि बिजली नहीं काटी जाती तो फीडर में गड़बड़ी हो जाती और पूरे इलाके की बिजली चली जाती। इसलिए 7 मिनट तक बिजली की कटौती की गई। सात मिनट के भीतर ही बिजली की सप्लाई बहाल कर दी गई। दूसरी तरफ कर्मचारी नेता ओ पी पांडे का कहना है कि ये दुर्भाग्यपूर्म है। उन्होंने कहा कि वो इसका विरोध करेंगे और आंदोलन करेंगे। चेयरमैन भी देश का नागरिक है। चेयरमैन के यहां बिजली जाती है तो कार्रवाई होगी और बाकी जगहों पर बिजली जाती है तो कार्रवाई नहीं होगी। हम आंदोलन करेंगे।

First published: August 16, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp