नोएडा: खुद ही वसूली के शिकार हो रहे हैं वर्दी वाले!

News18India
Updated: September 24, 2012, 5:02 PM IST
News18India
Updated: September 24, 2012, 5:02 PM IST
नोएडा।देश में छोटे मोटे कानून तोड़ना आम बात है। लोग सड़कों पर ट्रैफिक नियम तोड़ते हुए पकड़े जाते हैं और होमगार्ड के हाथ में सौ-पचास रुपए देकर आसानी से छूट जाते हैं। होमगार्ड या पुलिस के जवान आसानी से आपको सड़कों पर वसूली करते नजर आ सकते हैं। लेकिन कैसे होमगार्ड खुद वसूली का शिकार हो रहे हैं। कैसे महज चार हजार आठ सौ रुपए कमाने वाले होमगार्ड हर रोज और हर महीने पैसे देने के लिए मजबूर है।

खुद होमागर्ड्स की माने तो ये पैसे उन्हें अपनी पसंदीदा जगह पर तैनाती के देने पड़ रहे हैं। अच्छी जगह तो 100 रुपए। सामान्य जगह हैं तो पचास रुपए। अगर दूसरे दिन उन्हें अच्छी जगह तैनाती चाहिए तो वो फिर से सौ या पचास रुपए देंगे। और इसके लिए वो खुद दिन भर लोगों से वसूली में जुटे रहते हैं। इन्हे सिर्फ रोज के ही नहीं बल्कि महीने के पैसे भी देने होते हैं।

खुफिया कैमरे में कैद सच और होमगार्ड्स की जुबान से निकले हर्फों की माने तो उन्हें हर महीने हजार रुपए ड्यूटी लगवाने के देने पड़ते हैं। और अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें।

First published: September 24, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर