मध्य प्रदेश: लेखाधिकारी के पास मिला करोड़ों की संपत्ति

आईएएनएस

Updated: October 14, 2012, 11:54 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

भोपाल। मध्य प्रदेश में भ्रष्टाचार के जरिए दौलत कमाने वाले कर्मचारी से लेकर अफसरों तक की सूची में लगातार नए-नए नाम जुड़ते जा रहे हैं। इस सूची में अब नाम जुड़ा है अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम के लेखाधिकारी बी.एस.भाटी का। उनके इंदौर सहित देवास के आवासों पर लोकायुक्त पुलिस द्वारा दी गई दबिश में दो करोड़ रुपये से अधिक की सम्पत्ति होने का खुलासा हुआ है।

लोकायुक्त पुलिस के सूत्रों के अनुसार, भाटी के पास आय से अधिक की सम्पत्ति होने की शिकायत मिली थी। उसी आधार पर लोकायुक्त के दलों ने इंदौर में सुदामानगर व पलासिया के अलावा देवास में एक स्थान पर रविवार की सुबह एक साथ दबिश दी।

मध्य प्रदेश: लेखाधिकारी के पास मिला करोड़ों की संपत्ति
अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम के लेखाधिकारी बी.एस.भाटी का। उनके इंदौर सहित देवास के आवासों पर लोकायुक्त पुलिस द्वारा दी गई दबिश में दो करोड़ रुपये से अधिक की सम्पत्ति होने का खुलासा हुआ है।

पुलिस उपाधीक्षक जे.के. शर्मा ने बताया कि इन छापों में प्रारंभिक तौर पर लगभग दो करोड़ रुपये की सम्पत्ति का पता चला है। भाटी के आवास से मिले दस्तावेज के मुताबिक चार मकान, दो स्थानों पर कृषि भूमि और काफी जेवरात होने के सबूत मिले हैं। इतना ही नहीं, इलाहाबाद बैंक में एक लॉकर भी भाटी के नाम से है। बैंकों में भाटी के खाते व कई बीमा योजना के दस्तावेज भी मिले हैं।

लोकायुक्त पुलिस ने भाटी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। एक अनुमान के मुताबिक भाटी ने अपने सेवाकाल में 35 से 40 लाख रुपये ही बतौर वेतन हासिल की होगी।

First published: October 14, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp