पाकिस्तानी बंदूकें खामोश, बंकर बनाने में जुटे ग्रामीण

आईएएनएस
Updated: January 16, 2013, 3:50 PM IST
पाकिस्तानी बंदूकें खामोश, बंकर बनाने में जुटे ग्रामीण
जम्मू एवं कश्मीर में सीमा पर पाकिस्तानी बंदूकें खामोश हो गई हैं। लेकिन डरे हुए ग्रामीण अपनी सुरक्षा के लिहाज से बंकर खोदने में जुट गए हैं।
आईएएनएस
Updated: January 16, 2013, 3:50 PM IST
पुंछ। जम्मू एवं कश्मीर में सीमा पर पाकिस्तानी बंदूकें खामोश हो गई हैं। लेकिन डरे हुए ग्रामीण अपनी सुरक्षा के लिहाज से बंकर खोदने में जुट गए हैं। भारतीय अधिकारियों ने उन उड़ती खबरों का भी उल्लेख किया कि पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा से सटे अपने इलाके के कुछ गांवों को खाली करा लिया है।

पुंछ जिले के एक अधिकारी ने पाकिस्तानी हिस्से के उन गांवों के नाम गिनाए जहां के रहवासियों को खाली करने के लिए कहा गया है। उन गांवों में ताता पानी, मनडोल, खालोट और काही गाला शामिल हैं। इधर भारतीय क्षेत्र में सालोत्री, तनगारी नाला और थेरा के ग्रामिणों ने भूमिगत बंकर खोदने शुरू कर दिए हैं।

भारतीय सेना के एक अधिकारी ने सवाल किया कि अगर कुछ और शरारत अंजाम देने की मंशा नहीं हो तो पाकिस्तानी सेना को गांव खाली कराने की जरूरत ही क्या है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना ने अपने बर्बाद, पीपी, डाकू, चूहा, बत्ताल और रोजा चौकियों से गोलीबारी की है। भारत में जिन चौकियों पर निशाना साधा गया है उनमें कृपाण, क्रांति-1, क्रांति-2, डोगरा, छत्री और आत्मा शामिल हैं।
First published: January 16, 2013
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर