यूपी में पुलिस की बेरुखी बनी युवक के मौत की वजह!

News18India
Updated: January 2, 2011, 4:26 AM IST
News18India
Updated: January 2, 2011, 4:26 AM IST
कानपुर। यूपी में एक शख्स अपनी बीवी-बच्चों की गुमशुदगी के लिए दर-दर भटकता रहा। पुलिस से कई बार गुहार लगाई लेकिन उसे हर बार उसे बेइज्जत किया गया। थक हार कर अंत में उसने नए साल पर मौत को गले लगा लिया। कानपुर का ये शख्स अपने बीवी-बच्चे के अगवा हो जाने के बाद 2 महीने तक थानों के चक्कर लगाता रहा लेकिन पुलिस ने उसकी फरियाद तक नहीं सुनी। जब दुनिया नए साल का जश्न मना रही थी तो उस शख्स ने मौत को गले लगा लिया। लेकिन मरने से पहले उसने फूट-फूटकर अपनी पूरी दास्तान कैमरे के सामने दी।

कानपुर में एक मेडिकल कंपनी में मैनेजर पुनीत ने नए साल से पहले अपनी बेटी और बीवी को खोजने का संकल्प लिया था लेकिन एक साल बाद जब उसे नाकामी हाथ लगी तो उसने अपनी जान दे दी। नए साल के पहले ही दिन पुनीत की हर उम्मीद ने उसके आंसुओं के साथ ही दम तोड़ दिया और 6 साल पुरानी उसकी प्रेम कहानी का बेहद दर्दनाक अंत हो गया।

जी हां, दरअसल 6 साल पहले पुनीत ने प्रेम विवाह किया था। शादी से उसकी पत्नी रश्मी के घरवाले बेहद खफा थे। उसे धमकियां भी दी गईं लेकिन कुछ समय बाद सब ठीक हो गया। लेकिन पुनीत को यह पता ही नहीं ता कि उस रंजिश का बदला उससे 6 साल बाद कुछ इस तरह निकाला जाएगा।

पुनीत के मुताबिक 5 अक्टूबर को उसकी पत्नी रश्मी और बेटी हर रोज की तरह स्कूल गए थे। इसके बाद वे कभी घर लौटकर नहीं आए। पुनीत का कहना है कि उन्हें उसके ससुराल वालों ने अगवा कर लिया क्योंकि घटना से कुछ दिन पहले ही उसे ससुराल के लोगों ने धमकी भरा फोन किया था। लिहाजा घबराया हुआ वो पुलिस के पास पहुंचा लेकिन वहां भी उसे बस निराशा ही हाथ लगी।

इसके बाद पुनीत के लिए हालात बद से बदतर होते चले गए। पुनीत के मुताबिक ससुराल से उसे खुलेआम धमकी दी जाने लगी। मरने से पहले कैमरे पर पुनीत यही दोहराता रहा कि उसे कहीं से मदद नहीं मिली। कानपुर पुलिस ने मदद करने की बजाय उसे जलील किया और जब वो थक गया तो थक हारकर इस पिता और पती ने खुदकुशी कर ली। देखें वीडियो



First published: January 2, 2011
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर