आर्मी भर्ती पेपर लीक: 350 छात्र हिरासत में, 18 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

News18India

Updated: February 26, 2017, 4:07 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

महाराष्ट्र में आर्मी भर्ती परीक्षा का लीक पेपर का परीक्षा के पेपर से मिलान हो गया है, जिसके बाद पुलिस ने 18 लोगों को गिरफ्तार किया है. ठाणे पुलिस की अपराध शाखा ने महाराष्ट्र और गोवा के अलग-अलग इलाकों में छापेमारी कर इन लोगों को गिरफ्तार किया है.

इस मामले में ठाणे पुलिस ने 350 छात्रों को अलग-अलग जगहों से पकड़ा, जिन्होंने लीक हुए पेपर को लिया था. अब इन लोगों से पूछताछ की जा रही है.

दरअसल, ठाणे क्राइम ब्रांच को महाराष्ट्र के कई शहरों में आर्मी भर्ती के लिए रविवार को होने वाली परीक्षा से पहले पर्चा लीक होने की सूचना मिली थी. इसके बाद क्राइम ब्रांच ने मामले को गंभीरता से लेते हुए महाराष्ट्र और गोवा में कई जगहों पर देर रात से छापेमारी की और 18 लोगों को गिरफ्तार किया.

हर आरोपी को मिलने थे दो लाख रुपए

ठाणे अपराध शाखा यूनिट-1 के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक नितिन ठाकरे ने कहा कि पुलिस ने महाराष्ट्र और गोवा के विभिन्न हिस्सों से करीब 350 छात्रों को भी हिरासत में लिया, जिन्हें कथित रूप से परीक्षा के पर्चे लीक होने से फायदा हुआ था.

कोचिंग क्लास चलाने वाले कुछ लोगों और सेना के कुछ कर्मचारियों ने कथित रूप से छात्रों को लॉज और दूसरी जगहों पर उत्तर लिखने के लिए परीक्षा के पर्चे दिए थे.

पुलिस के अनुसार यह तय हुआ था कि छात्र लीक पर्चे के लिए हर आरोपी को दो लाख रुपए देंगे. पुलिस ने बताया कि सूचना के आधार पर छापेमारी की गई, जिसमें ठाणे में अलग-अलग जगहों पर कुछ छात्रों को पर्चे लिखते पाया गया.

सेना के कुछ अधिकारियों पर शक

ये सभी लोग आर्मी भर्ती की एकेडमी चलाते हैं. आरोप है कि यही पेपर लीक करते थे. ठाणे क्राइम ब्रांच के मुताबिक ये छापेमारी पुणे, नागपुर और गोवा की कई जगहों पर की गई.

छापेमारी के दौरान हैरान करने वाली बात ये सामने आई कि जिन 18 लोगों को ठाणे पुलिस ने हिरासत लिया था. उनसे दो लोग आर्मी बैकग्राउंड के हैं. हालांकि दोनों ही लोवर रैंक के अधिकारी हैं, लेकिन ठाणे पुलिस का कहना कि बिना आर्मी अधिकारियों की मिलीभगत से यह मुमकिन नहीं है.

बता दें कि आर्मी का सबसे बड़ा बेस महाराष्ट्र में नागपुर और पुणे में है. भारतीय सेना का आर्मी बेस भी गोवा में है. इसलिए पुलिस ने इन तीन जगहों पर छापेमारी की है. छापेमारी के लिए तकरीबन 10-15 टीम क्राइम ब्रांच ने बनाई थी.

(इनपुट भाषा के साथ)

First published: February 26, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp