दिल्ली एमसीडी चुनाव के लिए बीजेपी ने दी स्टार प्रचारकों में योगी को तरजीह

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: April 6, 2017, 11:28 PM IST
दिल्ली एमसीडी चुनाव के लिए बीजेपी ने दी स्टार प्रचारकों में योगी को तरजीह
File Photo
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: April 6, 2017, 11:28 PM IST
दिल्ली एमसीडी चुनाव में नामांकन का काम पूरा हो चुका है. चुनाव प्रचार शुरू होने के साथ ही सियासी पारा भी चढ़ने लगा है. दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने प्रचार के लिए स्टार प्रचारकों की सूची भी तैयार कर ली है. सूची में सीएम योगी आदित्यनाथ को ऊपर रखते हुए कई केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्रियों से तरजीह दी गई है.

बता दें, 2009 के लोकसभा चुनाव में मनोन तिवारी और योगी आदित्यनाथ एक दूसरे के खिलाफ गोरखपुर सीट से चुनाल लड़े थे. उस समय दोनों ने एक-दूसरे को परास्त करने के लिए हर तरह के शब्दों के हथकंडों को अपनाया था.

एमसीडी चुनावों में बीजेपी की प्रतिष्ठा को देखते हुए मनोज तिवारी ने 42 स्टार प्रचारकों की सूची तैयार की है. लेकिन चौंकाने वाली बात ये है कि सूची में कई केंद्रीय मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों को नीचे रखते हुए सीएम आदित्यनाथ योगी को आठवें नंबर पर जगह दी गई है. वहीं सूत्रों की मानें तो एमसीडी चुनाव प्रचार के लिए योगी के नाम पर मौखिक रूप से भी खास आग्रह किया गया है.

लोकसभा चुनाव 2009 में एक दूसरे के विरोधी थे योगी-मनोज

अगर 2009 के लोकसभा चुनावों पर निगाह डालें तो मनोज तिवारी सपा से तो योगी भाजपा से उम्मीदवार थे. कही सीधे तौर पर नाम लेकर तो कहीं नाम ना लेकर एक-दूसरे पर गंभीर आरोप लगाते हुए वोटरों को लुभाने की कोशिश की थी.

ये बोले थे मनोज तिवारी-

एक अप्रैल को मियां बाजार इमामबाड़ा में रोशन अली शाह की मजार पर चादर चढ़ाई और शहर को सांप्रदायिक और आपराधिक शक्तियों के चंगुल से मुक्त कराने की बात कही.

छह अप्रैल को तिवारी ने प्रचार के दौरान कहा था कि अमेरिकी राष्ट्रपति भोजपुरी के दीवाने हैं. लेकिन हमारे सांसदों को भोजपुरी में सवाल पूछने पर शर्म आती है.

14 अप्रैल को बीबीसी.कॉम में छपे एक इंटरव्यू में एक सवाल के जबाव में मनोज तिवारी ने कहा था कि जहां तक सवाल योगी आदित्यनाथ का है तो उन्होंने भोली-भाली जनता के साथ तिलिस्म खेल रखा है और जिसके जाल में जनता फंसी थी. जब से पूर्वांचल पर प्रहार करने वाली शिवसेना का साथ उन्होंने दिया है. जनता का उनसे दुराव हुआ है.

चुनाव प्रचार में ये कहा था योगी ने-

चार अप्रैल को योगी ने कहा कि शहर को भू-माफियाओं और आपराधिक लोगों के हाथ में जाने से रोकने के लिए हर कीमत देने को तैयार हूं.

छह अप्रैल को योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपराधियों को टिकट देकर पार्टियां अपना नुमाइंदा बना रही हैं. लोकतंत्र ने जो मौका दिया है उसका फायदा उठाकर हमे चुनकर विरोधी ताकतों से लड़ने में हमें ताकत दें.

15 अप्रैल को बीबीसी.कॉम में छपे एक इंटरव्यू में एक सवाल के जबाव में योगी ने कहा था कि कोई व्यक्ति एक कलाकार हो सकता है. हो सकता है कि उसमें कुछ विशिष्ट गुण हों, लेकिन वो व्यक्ति जनभावनाओं को, उसकी जरूरतों को भी समझ सकता है, इसमें संदेह है.
First published: April 6, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर