युवती ने पहले बनाए मर्जी से शारीरिक संबंध, फिर की बॉय फ्रेंड के साथ मिलकर लाखों की डिमांड

Rakesh Gusai | ETV Rajasthan
Updated: January 13, 2017, 6:55 PM IST
युवती ने पहले बनाए मर्जी से शारीरिक संबंध, फिर की बॉय फ्रेंड के साथ मिलकर लाखों की डिमांड
पुलिस ने युवती के प्रेमी ऋषिराज को किया गिरफ्तार. फोटो-(ईटीवी)
Rakesh Gusai | ETV Rajasthan
Updated: January 13, 2017, 6:55 PM IST
जयपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन से ऑटो में अपहरण और गैंगरेप का आरोप लगाने वाली युवती के मामले का शुक्रवार को जयपुर पुलिस कमिश्नरेट ने पर्दाफाश कर दिया है.

पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने प्रेसवार्ता बुलाकर खुलासा किया है कि घटना में युवती ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर युवक को ब्लैकमेल करने और 5 लाख रुपए कमाई करने के लिए साजिश रची थी और इस काम में युवकों को दवाब में लेने के लिए युवती ने खुद की ही अश्लील फिल्म भी बनवाई थी.

पुलिस ने युवती और उसके साथी को पकड़कर 6 मोबाइल, 15सिम, 5 एटीएम कार्ड, एक पल्सर बाइक बरामद की है. पुलिस ने तीन दिनों तक गहन अनुसंधान के बाद पाया कि युवती की आर्थिक दशा सही नहीं होने के बाद भी उसका रहन सहन हाईफाई था. इसकी जांच करने पर पाया गया कि युवती पहले अपनी बुआ के पास यूपी में रही थी, जहां चाल चलन सही नहीं होने के कारण वहां से उसे वापस भेज दिया गया.

मंगलवार सुबह प्रकरण का पता चलने के बाद पुलिस अधिकारी युवती के बयानों के आधार पर ही जांच करते रहे, लेकिन इस दौरान युवती ने कई बार अपने बयान बदले.

पुलिस ने पूरे रूट और एक हजार से ज्यादा आटो चालकों को खंगाला, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा. युवती के बयान पूरी तरह से झूठे निकलने के बाद पुलिस ने जांच की दिशा बदली तो पूरे प्रकरण का खुलासा हुआ.

इसमें युवती रेलवे स्टेशन से ऑटो में जगतपुरा फाटक तक गई थी. वहां उसका प्रेमी ऋषिराज अपनी बाइक पर उसके किराए के फ्लैट तक लेकर गया. इस दौरान युवती आरती लगातार संदीप नाम के युवक से बात करती रही. उसने रात 10 बजे संदीप को फ्लैट पर बुलाया और सुबह 3 बजे तक उसके साथ तीन-चार बार सहमति से शारीरिक संबंध बनाए.

इस दौरान ऋषिराज मीणा दूसरे कमरे में छिपा रहा और सुबह 4 बजे आरती ने संदीप से पैसों की मांग की, तो उसने बताया कि उसके पास कोई पैसा नहीं है. इस पर उसने संदीप को वहां से भेज दिया और करीब 5 बजे ऋषिराज के साथ एमएनआईटी कॉलेज के गेट तक पहुंची और फिर पुलिस को झूठी सूचना दी.

इससे पहले ही बुधवार शाम को समाचार पत्रो में संदीप का नाम आने के बाद संदीप खुद ही अपने दोस्त के साथ पुलिस तक पहुंच गया और पूरा मामला बताया.

पुलिस ने आरती की कॉल डिटेल और चाल चलन के आधार पर जांच की दिशा बदली और युवती के इर्द गिर्द पड़ताल कर पूरे मामले का खुलासा कर दिया.

झूठी कहानी रचकर कमाई के फेर में फंसी युवती आरती अपने ही जाल में फंस गई और शुक्रवार को पुलिस ने उसे और उसके प्रेमी ऋषिराज मीणा को गिरफ्तार कर लिया.
First published: January 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर