दिल्ली-एनसीआर और उत्तराखंड में भूकंप के तेज झटके, 30 सेकेंड तक डोलती रही धरती

News18India
Updated: February 7, 2017, 12:03 AM IST
News18India
Updated: February 7, 2017, 12:03 AM IST
दिल्ली-एनसीआर में सोमवार रात 10.33 बजे  भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं. बताया जा रहा कि करीब 30 सेकेंड तक भूकंप के झटके आते रहे. उत्तराखंड का रुद्रप्रयाग इसका सेंटर बताया जा रहा है. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.8 बताई जा रही है. एनडीआरएफ को हाई अलर्ट पर कर दिया गया है. गृह मंत्रालय ने भूकंप पर रिपोर्ट मांगी है.

भूकंप का केंद्र उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में था. भूकंप की तीव्रता इतनी तेज थी कि डरे-सहमे लोग घरों से बाहर भागे. ऊंची इमारतों में रहने वाले लोगों ने भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए हैं. भूकंप के झटके पंजाब, हरियाणा समेत पूरे उत्तर भारत में महसूस किए गए.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने डीएम पिथौरागढ़ को फोन कर भूकंप के बाद के हालात की जानकारी ली. उन्होंने एसडीआरएफ को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं. सीएम ने न्यूज 18 इंडिया से फोन पर कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है. पूरी मशीनरी हाई अलर्ट पर  है. हम पिछले जलजले से थोड़ा डरे हुए हैं, लेकिन अभी घबराने जैसी कोई बात नहीं है.

वहीं पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की इकाई राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान ब्यूरो के ऑपरेशन प्रमुख जेएल गौतम ने बताया कि भूकंप की गहराई 33 किलोमीटर थी और यह रात 10 बजकर 33 मिनट पर आया. उत्तराखंड में लोग भूकंप के बाद आने वाले झटकों के खौफ में घर नहीं जा रहे.

रुद्रप्रयाग डीएम रंजना के अनुसार, आपदा केंद्र को पूरी तरह से एक्टिव कर दिया गया है. सभी पुलिस थानों और तहसील से जानकारी जुटाई जा रही है. अभी तक कहीं से भी जनहानि की कोई सूचना नहीं है. वहीं अभी तक यह भी साफ नहीं हो सका है कि भूकंप का केंद्र रुद्रप्रयाग है या फिर पीपलकोटी. पीपलकोटी चमोली जिले में आता है और यह रुद्रप्रयाग को पड़ोसी जिला है.

डीएम ने बताया कि भूकंप के झटके महसूस करने के बाद हम और सारा स्टाफ क्वार्टरों से बाहर आ गया. भूकंप के तेज झटके दो बार महसूस किए गए. जिले के सभी अफसरों को अलर्ट कर दिया है.

दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में 20 मंजिला इमारत तक हिलने लगी. अभी तक कहीं से जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है. यूपी के गाजियाबाद और मेरठ में भी झटके महसूस किए गए हैं. राहत की बात यह है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद की ओर भूकंप के झटके नहीं महसूस किए गए.

रुद्रप्रयाग के एसपी प्रह्लाद जोशी ने न्यूज 18 इंडिया को बताया कि अभी तक कहीं से कोई नुकसान की खबर नहीं है. उत्तराखंड के एक युवक ने कहा हम लोग घर में बैठे थे, तभी किसी ने बताया भूकंप आया है. मुझे लगा कि दोस्त मजाक कर रहे हैं, लेकिन पता चला कि वाकई झटके आए हैं. एक और शख्स ने कहा हम घर में बैठे थे और अचानक बहुत तेज झटके लगे. हम लोग नीचे भागे. झटके इतनी तेज थे कि लग रहा था पूरी बिल्डिंग हिल रही है. एक बच्चे ने कहा कि हम घर में बैठे थे और बेड तेजी से हिलने लगा. घर का फर्श भी तेज हिल रहा था.





दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भूकंप आने पर ट्वीट कर लोगों की सलामती की कामना की.





इससे पहले 26 दिसम्बर को भी उत्तराखंड में 3.5 की तीव्रता से भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए थे. ये झटके राजधानी देहरादून और पड़ोसी जिले उत्तरकाशी में भी महसूस हुए थे.  भारतीय मौसम विभाग ने कहा था कि इस भूकंप का मुख्य केंद्र 30.8 उत्तरी अक्षांश और 77.9 पूर्वी देशांतर में देहरादून के आसपास था. इसकी गहराई भूमि सतह से 10 किलोमीटर नीचे रही. ये हल्के झटके थे और इनसे जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ था.

First published: February 6, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर