पाकिस्‍तान के रावलपिंडी जैसा गंदा क्‍यों है दिल्‍ली का बुराड़ी?

News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 1:36 PM IST
पाकिस्‍तान के रावलपिंडी जैसा गंदा क्‍यों है दिल्‍ली का बुराड़ी?
Source: news18.com
News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 1:36 PM IST
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एमसीडी चुनाव जीतने पर दिल्ली को एक साल में लंदन जैसा बनाने का वादा किया है. लेकिन, इस वादे को जमीन पर उतारने में आने वाली मुश्किलें दिल्ली के बुराड़ी इलाके के हाल से समझी जा सकती हैं. उत्तर दिल्ली का इलाका बुराड़ी पाकिस्तान के रावलपिंडी जैसा है जिसे दुनिया के सबसे गंदे शहरों में से एक माना गया है.

बुराड़ी के बुरे हाल का अंदाजा दिल्ली नगर निगम के वेबसाइट से भी लगाया जा सकता है. नगर निगम में पूरी दिल्ली में बुराड़ी से सबसे ज्यादा शिकायतें की गई हैं. यहां के लोगों का कहना है बारिश में इलाके का बुरा हाल हो जाता है. यह किसी भयानक सपने जैसा लगता है. कुछ लोगों ने सड़कें न होने और हर तरफ गंदगी होने की शिकायत की है.

बुराड़ी में कई लोग अवैध कालोनियों और बस्तियों में रह रहें हैं, जहां टैक्स दिए और नियमों को ताक पर रखकर घर बनाए जाते हैं. साल दर साल कानून का उल्लंघन कर अनियमित तौर पर घर बन रहे हैं और उन्हें राजनेताओं व अधिकारियों का संरक्षण भी प्राप्त है.

विधायक बदलने का नहीं कोई असर

बुराड़ी के अजित विहार में रहने वाली 42 वर्षीय अनुराधा गुप्ता का कहना है ​कि उन्हें लकवा है और इस कारण वह बार-बार किसी के आने-जाने पर दरवाजा बंद नहीं कर पातीं. ऐसे में बार-बार मिट्टी और सीवर का पानी उनके घर में घुस जाता है. यहां तक की इस इलाके में विधायक बदलने के बाद भी खास बदलाव नहीं ​आया. पिछले विधानसभा चुनावों ने यहां से आम आदमी पार्टी के संजीव झा को लोगों ने चुना था.

लोग इतने निराश हैं कि अब उन पर नेताओं के वादों का कोई असर ही नहीं पड़ता. लोगों का कहना है कि हर चुनाव में राजनेता आते हैं और लुभावने वादे करके चले जाते हैं. यहीं के नाथुपूरा इलाके की बात करें तो दिहाड़ी मजदूरों के इस क्षेत्र में हर मानसून में डेंगू, मलेरिया और चिकगुनिया जैसा बीमारियां होना तय है. यहां रहने वाली एक 19 साल की लड़की ने यह भी बताया कि इस इलाके में कूड़ा उठाने वाली गाड़ी भी नहीं आती जिसके कारण आसपास ही कूड़ा फेंकना पड़ता है.

नेताओं की अलग धुन
पास के संत नगर का भी यही हाल है. यहां रहने वाले दर्जी राजू पांडे ने बताया कि यहां बिजली भी ठीक से नहीं आती. कई बार इलेक्ट्रॉनिक मशीन नहीं चलने से वह आॅर्डर भी नहीं ले पाते.

वहीं, आप एमएल झा ने इस अव्यवस्था के अलग ही कारण बताए. उन्होंने कहा, 'बीजेपी का इस बार पुराने पार्षदों को टिकट न देना दिखाता है कि पार्टी ने पिछले दशक में नगर निगम को सिर्फ लूटा है. हमारा चेहरा अरविंद केजरीवाल हैं और लोग उनकी नीतियों के लिए वोट करेंगे.'
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर