कमल हासन के बाद जल्लीकट्टू के समर्थन में आए सुपरस्टार रजनीकांत

Agencies
Updated: January 14, 2017, 3:16 PM IST
कमल हासन के बाद जल्लीकट्टू के समर्थन में आए सुपरस्टार रजनीकांत
Still from kabali
Agencies
Updated: January 14, 2017, 3:16 PM IST
सुपरस्टार रजनीकांत ने सांड़ को काबू में करने वाले लोकप्रिय प्राचीन खेल जल्लीकट्टू का समर्थन किया है. यह खेल पोंगल के आसपास खेला जाता है. रजनीकांत ने इसका समर्थन करते हुए कहा कि इसे जरूर खेला जाना चाहिए क्योंकि यह तमिल संस्कृति का हिस्सा है.

पिछले साल उच्चतम न्यायालय ने जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसके चलते इस खेल के समर्थक नाराज हैं. उन्होंने विकटन फिल्म पुरस्कार के दौरान संवाददाताओं से कहा, "चाहे जो भी नियम बनाए जाए, लेकिन जल्लीकट्टू जरूर आयोजित किया जाना चाहिए क्योंकि यह तमिल संस्कृति का हिस्सा है."

इस पुरस्कार समारोह में फिल्म 'कबाली' में डॉन की भूमिका निभाने वाले रजनीकांत सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार से नवाजे गए. रजनीकांत फिलहाल तमिल फिल्म '2.0' की शूटिंग में व्यस्त हैं.

गौरतलब है कि कमल हासन ने जल्लीकट्टू पर लगाए गए बैन का विरोध किया है. आपको बता दें कि कमल के लिए जल्लीकट्टू मात्र एक खेल नहीं बल्कि उत्सव की तरह है. एक इंटरव्यू में कमल हसन ने कहा कि जिन्हें भी लगता है कि ये परंपरा जानवरों के खिलाफ क्रूरता है , उन्हें बिरयानी पर भी प्रतिबन्ध लगा देना चाहिए.

कमल ने बताया कि वो जल्लीकट्टू के बहुत बड़े फैन हैं और कई बार बैलों की दौड़ के इस उत्सव में हिस्सा ले चुके हैं. उन्होंने जल्लीकट्टू को स्पेन के फेमस बुल-फाइटिंग खेल के सामान बताये जाने को भी गलत ठहराते हुए कहा कि स्पेन में बैलों की लड़ाई में जान जाती है लेकिन तमिलनाडु में बैलों को भगवान का दर्जा दिया जाता है.

आपको बता दें कि साल 2014 सुप्रीम कोर्ट ने पशु क्रूरता बताते हुए परंपरागत खेल पर बैन लगा दिया था.
First published: January 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर