झल्लाए भंडारकर ने कहा- किसी को नहीं दिखाऊंगा 'इंदु सरकार'

आईएएनएस
Updated: July 14, 2017, 6:31 PM IST
झल्लाए भंडारकर ने कहा- किसी को नहीं दिखाऊंगा 'इंदु सरकार'
madhur bhandarkar ने कहा किसी को नहीं दिखाएंगे इंदु सरकार
आईएएनएस
Updated: July 14, 2017, 6:31 PM IST
राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता मधुर भंडारकर अपनी आगामी फिल्म 'इंदु सरकार' को लेकर हर तरह के स्पष्टीकरण देकर थक गए हैं. यह फिल्म 1975 में देश में लगाए गए आपातकाल पर आधारित है.

सेंसर बोर्ड ने 'इंदु सरकार' में कई कट लगाने के सुझाव दिए हैं, वहीं मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने फिल्म को रिलीज करने से पहले इसे उनकी पार्टी को दिखाए जाने की मांग की है. लेकिन, निर्देशक ने यह साफ कर दिया है कि वह अपनी फिल्म किसी को भी, खासकर नेताओं को तो बिल्कुल नहीं दिखाएंगे.

भंडारकर ने कहा, "मैं इस पूरे मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहता. अतंत: फिल्म की कहानी राजनीति के बारे में नहीं है. यह आपातकाल के समय की है. हम इसे राजनीति से नहीं जोड़ना चाहते, हम इसकी रिलीज चाहते हैं, ताकि हर इंसान इस फिल्म के साथ जुड़ सके."

फिल्म 28 जुलाई को रिलीज होने वाली है और भंडारकर रिलीज की यही तारीख रखना चाहते हैं. उन्होंने इस पर जोर देते हुए कहा, "मैं रिलीज तारीख को छोड़ना नहीं चाहता."

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) ने नील नितिन मुकेश, कीर्ति कुलहरी और तोता रॉय चौधरी अभिनीत फिल्म में 12 कट लगाने और दो जगह डिस्क्लैमर के निर्देश दिए हैं.

फिल्म का तीन मिनट का ट्रेलर 16 जून को जारी हुआ. तब से यह फिल्म विवादों में हैं. एक कांग्रेस नेता ने तो भंडारकर का चेहरा काला करने वाले को इनाम देने तक की घोषणा कर डाली, वहीं संजय निरुपम ने सेंसर बोर्ड द्वारा प्रमाणित किए जाने से पहले विशेष स्क्रीनिंग में इसे कांग्रेसी नेताओं को दिखाने की मांग कर डाली.

भंडारकर ने इस पर कहा, "मैं फिल्म नहीं दिखाऊंगा, अगर कोई फिल्म बाद में देखना चाहता है तो हम सोचेंगे. पहले अधिकारियों को फिल्म को पास करने दीजिए, तब तक मैं किसी को फिल्म नहीं दिखाऊंगा. सेंसर को फैसला लेने दीजिए. मुझे लगता कि पुनरीक्षण समिति कहीं अधिक उदार होगी."
First published: July 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर