रिएलिटी से कितनी अलग है अन्ना पर बनी फिल्म, देखें रिव्यू

शिखा धारीवाल | News18India
Updated: October 14, 2016, 12:55 PM IST
शिखा धारीवाल | News18India
Updated: October 14, 2016, 12:55 PM IST
मुंबई। अन्ना हजारे पर बनी फिलम अन्ना आज रिलीज हो गई है। अन्ना के जीवन पर बनी इस फिल्म को रिलीज़ करने की टाइमिंग इससे बेहतर नहीं हो सकती थी। देशभर में देशभक्ति का माहौल है, मगर क्या यह फिल्म इस माहौल को कैश कर सकेगी?

करीब 2 घंटे 10मिनटकी यह फिल्म अन्ना हजारे के बचपन से शुरू होकर अन्ना आंदोलन तक की कहानी है। मगर अफसोस इसमें ऐसा कुछ भी नहीं है, जो आप और हम जानते नहीं हैं न्यूज चैनल्स अन्ना के बारे इतना बता चुके हैं,  इतना कुछ दिखा चुके हैं कि इस फिल्म की कहानी में कुछ और बताने और दिखाने को बचा ही नहीं था।

यह फिल्म दिलचस्प बन सकती थी, बशर्ते फिल्म की कहानी अन्ना हजारे और अरविंद केजरीवाल के बनते बिगड़ते रिश्तों पर होती। मगर फिल्म में तो उनका ज़िक्र तक नहीं है। हालांकि फिल्म का विषय अच्छा और संभावनाओं से भरा हुआ था। मगर खराब कहानी, बेकार निर्देशन, स्तरहीन संगीत, बेदम संवाद और धीमी रफ्तार इसे पांच में से आधे स्टार के काबिल बनाता है।

film2

इस सब्जेक्ट पर एक बेहतरीन पॉलिटिकल सटायर वाली फिल्म बन सकती थी, मगर अफसोस ऐसा हो न सका। इस फिल्म को बनानेवाले इसमें एक्टिंग करने वाले और इसे देखने वाले किसी का कोई फायदा नहीं है। देश का कीमती समय बर्बाद ना करें और इस हफ्ते टीवी पर साउथ इंडिया डब फिल्मों का मजा लें।
First published: October 14, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर